ब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

शहरों के नामकरण पर बोलें हार्दिक ‘125 करोड़ हिंदुस्तानियों का भी होना चाहिए नामकरण’

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शहरो के नामकरण का मुद्दा अब सियासत का रूप ले चुका है। जी हां, यूपी सरकार द्वारा नामकरण पर अब जमकर सियासत हो रही है। हर कोई इस मुद्दे पर अपनी राय रख रहा है। इसी सिलसिले में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने बीजेपी सरकार से बड़ा निवेदन किया है। शहरों के नामकरण में यूपी ही नहीं, बल्कि अब इसकी चपेट में कई अन्य राज्य भी आ रहे हैं। हाल ही में अहमदाबाद का नामकरण करने की मांग उठी, जिसके बाद अब विरोधी दल के नेता इस मुद्दे को चुनावी मुद्दा बना रहे हैं। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने यूपी की बीजेपी और केंद्र की एनडीए सरकार पर जबरदस्त हमला बोलते हुए कहा कि अगर नामकरण से भारत फिर से सोने की चीड़िया बन जाएगा, तो सवा सौ करोड़ देशवासियों का नामकरण होना चाहिए। जी हां, पाटीदारण नेता हार्दिक पटेल ने कहा कि सभी हिंदुस्तानियों का नाम बदलकर राम रख देना चाहिए, क्योंकि इससे देश काफी तरक्की करेगा और सारी समस्याएं अपने आप ही खत्म हो जाएंगी। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल प्रखर बीजेपी विरोधी माने जाते हैं, जिन्होंने गुजरात में कांग्रेस को जीताने की भरपूर कोशिश की थी।

केंद्र की मोदी और यूपी की योगी सरकार पर बड़ा बयान

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने केंद्र की मोदी और यूपी की योगी सरकार पर बयान देते हुए कहा कि इस देश में बेरोजगारी, किसानों का प्रश्न बड़ा है, लेकिन मौजूदा सरकार नाम बदलने और मूर्तियों के चक्कर में है। यही वजह है कि मौजूदा सरकार नामकरण का सिलसिला धीरे धीरे नहीं बढ़ा रही है, बल्कि तेज़ी से अपने इस मिशन पर काम कर रही है। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने आगे कहा कि यूपी में युवा रोजगार के अभाव में इधर उधर भटक रहा है, लेकिन सरकार नामकरण करके अपनी पीठ थपथपा रही है।

राम मंदिर के मुद्दे पर बात करते हुए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कहा कि चूंकि अब चुनाव का मौसम है, तो ऐसे में बीजेपी राम नाम के बहाने जनता से वोट मांग रही है, जोकि जनता की भावनाओं के साथ खेलने के अलावा कुछ नहीं है। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब भी चुनाव आता है, तभी बीजेपी राम मंदिर पर बात करती है और उसके बाद इस मुद्दे को भूल जाती है।

Related Articles

Close