भारत ही नही बल्कि इन देशों में भी मनाई जाती है दीवाली, मगर कुछ अलग अंदाज मे

दिवाली का त्यौहार सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी बड़ी धूमधाम से मनाई जाती हैं। ऐसे में आज हम दुनिया के कुछ खास देशो के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जहां पर दिवाली का त्यौहार अलग-अलग ढंग से मनाया जाता हैं, अर्थात दिवाली की रोशनी सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी देखने को मिलती हैं। तो आइए जानते हैं कि विदेश में रहने वाले लोग दिवाली का त्यौहार किस ढंग से मनाते हैं और विदेशो में इसे मनाने की क्या मान्यताएँ हैं।

विदेशों में इस तरह से मनाई जाती है दिवाली

लेस्टर, ग्रेट ब्रिटेन

दिवाली का त्यौहार भारत के अलावा ग्रेट ब्रिटेन के लेस्टर में बड़े धूमधाम से मनाया जाता हैं और यह शहर खूबसूरत जंगलो से घिरा हैं। यहाँ पर रहने वाले हिंदू, जैन और सिख समुदाय तो दिवाली धूमधाम से मनाते ही बल्कि अन्य धर्म के लोग भी बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं। बताते चलें की यहाँ पर दिवाली के दिन हर कोई पार्क और स्ट्रीट पर समूह में इकठ्ठा होकर खूब सारे पटाखे छोड़ते हैं साथ ही साथ आपस में मिठाई भी बांटते हैं।

जापान

आपको बता दें की भारत के अलावा जापान में भी दिवाली का अत्योहार मनाया जाता है, यहाँ पर दिवाली की ही तरह ओनियो फेयर फेस्टिवल बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जनवरी में मनाया जाने वाला ओनियो फेस्टिवल जापान का सबसे प्राचीन उत्सव है और यहाँ फुकुओका में दिवाली जैसा प्रकाशमयी त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। बता दे कि इस दौरान छह मशाल जलाई जाती हैं जो कि आपदा को नष्ट करने के प्रतीक के रूप में होती है।

फ्लोरिडा

फ्लोरिडा के अल्टूना शहर में हर साल 31 अक्टूबर से 1 नवंबर तक मनाए जाने वाला सैमहेन फेस्टिवल बहुत शानदार तरीके से मनाया जाता हैं। बताते चलें की यहाँ पर इसत्यौहार को भूतों के सम्मान में मनाया जाता हैं और इस दौरान हर कोई बोन फायर जलता है। बताया जाता है की इस त्योहार पर मनोरंजन और अलग-अलग थीम्स पर आधारित होता हैं और इस दिन हर कोई यहां आकार हैरतअंगेज कारनामों का जमकर लुत्फ उठाते हैं।

थाइलैंड

वैसे तो दिवाली का त्यौहार ढेर सारी खुशियों को साथ लेकर आता है और भारत के अलावा थाइलैंड में इसे लाम क्रियोंघ के नाम से मनाया जाता है। बता दें की इस दिन लोग केले की पत्तियों से बने दीपक और धूप को रात में जलाया जाता है और साथ ही साथ इसपर पैसा भी रखा जाता है और फिर बाद में इस जलते हुए दीप को नदी के पानी में बहा दिया जाता है।

नेपाल

नेपाल भारत का पड़ोसी राज्य हैं और दिवाली के रूप में यहाँ तिहार फेस्टिवल मनाया जाता हैं, जिसमें कुत्तों की पूजा की जाती हैं दरअसल नेपाल के हिंदू समुदाय के लोग पांच दिन के इस फेस्टिवल में एक दिन जानवरों की पूजा करते हैं और खास तौर पर कुत्ते की पूजा होती है। नेपाली हिंदुओं का यह फेस्टिवल धरती पर रह रहे सभी प्राणियों के परस्पर संबंधों को याद करने का एक तरीके के रूप में मनाया जाता हैं।

सिंगापुर

दिवाली के दिन सिंगापुर में स्पेशल बसों पर रंगोली के ट्रेडिशनल डिजाइन बनाए जाते हैं और ये देखने में बहुत ही खूबसूरत होते हैं। इस तरह की सजावट देख कर हर कोई यहाँ के दिवाली में एक बार शामिल होना चाहेगा।

इंग्लैंड

इंग्लैंड में यह पर्व 1605 से मनाया जा रहा हैं, यहाँ आधी रात को ही ऑटरी सेंट मैरी शहर रोशनी से प्रज्जवलित हो उठता है। बता दें कि इस फायर फेस्टिवल को हर साल 5 नवंबर को मनाया जाता है। दरअसल डेवन के दौरान लोग सत्तरह फ्लैमिंग बैरल लेकर रोड पर मार्च करते हैं और लोग झर्राटेदार बैरल, पटाखे हर उम्र के लोगों के हाथ में होता हैं, जो अंत में शहर के बीचों-बीच इकठ्ठा होकर बोनफायर भी जलाते हैं। अर्थात रोशनी का त्यौहार सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी धूमधाम से मनाया जाता हैं।

यह भी पढ़ें :