अजीनोमोटो के नुकसान, सेहत के लिए हो सकता है ख़तरनाक

अजीनोमोटो के नुकसान : नमक के स्वाद वाला अजीनोमोटो अधिकांश खाद्य पदार्थों में डाले जाने वाला एक प्रमुख घटक है. आज के समय में बर्गर, पिज़्ज़ा यहाँ तक कि मैगी मसालों में भी अजीनोमोटो का इस्तेमाल स्वाव बढाने के लिए किया जा रहा है, हालाँकि यह आपके भोजन का स्वाद बढाता है लेकिन इसके सेहत को कईं तरह के दुष परिणाम हो सकते हैं. इस लेख में हम आपको अजीनोमोटो के नुकसान बताने जा रहे हैं जीनेक बारे में आपको पता रेहना बेहद आवश्यक है. अजीनोमोटो को मोनोसोडियम ग्लूटामेट (MSG) के नाम से भी जाना जाता है. खाने में यह नामक से अधिक स्वादिष्ट है लेकिन इसका अधिक सेवन हमारी सेहत को बिगाड़ सकता है. कुछ लोगों को अजीनोमोटो के सेवन के बाद असुविधाओं का सामना करना पड़ता है और उन्हें सिर दर्द, मतली, उल्टियाँ आदि जैसे रोग घेरे रहते हैं.

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि अजीनोमोटो को 1909 में पहली बार जापान के एक रसायनिक वैज्ञानी किकुनाय एकेडा द्वारा खोजा गया था. खाने में यह नामक की तरह होता है लेकिन दिखने में यह चमकीले छोटे क्रिस्टल के जैसा होता है. अजीनोमोटो में एमिनो एसिड की मात्रा सबसे अधिक पाई जाती है. अजीनोमोटो के नुक्सान निम्नलिखित हैं-

अजीनोमोटो
अजीनोमोटो

अजीनोमोटो के नुक्सान- बांझपन

अजीनोमोटो के सेवन से गर्भवती महिलायों को बचना चाहिए. दरअसल अजीनोमोटो में मौजूद तत्व भोजन की आपूर्ति में बाधा डाल सकते हैं जिसका सीधा असर महिला के नयूरोंस पर पड़ता है. इसके इलावा यह शरीर में सोडियम की मात्रा को अधिक बढ़ा देता है जिससे रक्तचाप बढ़ने का खतरा बी अधिक हो जाता है. अजीनोमोटो महिलाओं के बाँझपन का भी एक कारण है.

अजीनोमोटो के नुक्सान- माइग्रेन

माइग्रेन अर्थात आधे सिर दर्द की समस्या आज की अधिकांश युवा पीढ़ी को घेरे हुए है. माइग्रेन का दर्द कईं बार इतना तेज़ उठता है कि पीड़ित व्यक्ति को अंदर तक हिला कर रख देता है. ऐसे में अजीनोमोटो का सेवन भी माइग्रेन को बढ़ावा देता है. इसलिए यदि आप माइग्रेन से बचना चाहते हैं तो आज से ही अजीनोमोटो युक्त भोजन पदार्थों का सेवन करना बंद कर दें.

अजीनोमोटो के नुक्सान- मोटापा

आज के समय में युवा पीढ़ी की खान पान की आदतें काफी बिगड़ चुकी हैं. अधिकतर लोग फ़ास्ट फ़ूड के शौक़ीन हैं लेकिन आपको बता दें कि अधिकतर जंक फ़ूड में स्वाद बढ़ाने के लिए अजीनोमोटो का इस्तेमाल किया जा रहा है. ऐसे में यह अजीनोमोटो आपके शरीर में सोडियम की मात्रा को बढ़ा सकता है. अजीनोमोटो के सेवन से हमें बार बार भूख लगती है और ना चाहते हुए भी हमे भोजन खाना पड़ता है ऐसे में मोटापा आना आम बात है. इसलिए यदि आप मोटे से बचना चाहते हैं तो अजीनोमोटो का परहेज़ करें.

अजीनोमोटो के नुकसान- अनिद्रा

अजीनोमोटो एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो मस्तिष्क कोशिकाओं या न्यूरॉन्स को उत्तेजित करता है जिसके कारण यह आप को रात भर जगाए रख सकता है. जबकि हर मनुष्य को रात में कुछ घंटे सोना आवश्यक है. दरअसल दिन भर की भाग दौड़ और थकान से हमारा मस्तिष्क और शरीर दोनों ही थक जाते हैं ऐसे में यदि पर्याप्त मात्रा में नींद ना मिले तो दिन भर हम कमजोर महसूस करेंगे साथ ही श्वास संबंधित रोग हमे आ घेरेंगे.