स्वास्थ्य

यूरिक एसिड क्या होता है? जानिए इसके लक्षण और परहेज

आज के समय में युवा पीढ़ी की खान-पान की आदतें काफी बदल चुकी है. इन आदतों से आए दिन बीमारियाँ मनुष्य को घेरे रखती हैं. इन्ही में से यूरिक एसिड की समस्या इन दिनों आम देखने को मिल रही है. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ये यूरिक एसिड क्या होता है? तो दोस्तों हम आपको आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मनुष्य शरीर में पाए जाने वाले हर एक तत्व की मात्रा में संतुलन बना रेहना अति आवश्यक है. क्यूंकि इसी संतुलन से हमारा शरीर स्वस्थ्य बना रहता है. परंतु यदि अगर किसी भी तत्व की मात्रा शरीर में कम या अधिक हो जाए तो उसका असर हमारे शरीर पर दिखाई देने लगता है. यूरिक एसिड भी एक ऐसी ही समस्या है. इस समस्या का मुख्य कारण शरीर में प्यूरिन का टूटना है. इस प्यूरिन के टूटने से ही यूरिक एसिड बनता है.

दरअसल प्यूरिन एक ऐसा पदार्थ है जो खाने वाली चीजों में पाया जाता है. जब यह पप्पी यूरिन हमारे शरीर में पहुंचता है तो रक्त के माध्यम से बहता हुआ किडनी तक पहुंच जाता है. वैसे तो यूरिक एसिड यूरिन के साथ ही शरीर से बाहर निकल जाता है परंतु कई बार किन्हीं कारणों के चलते यह एसिड शरीर के अंदर ही रह जाता है और धीरे-धीरे इसकी मात्रा बढ़ने लगती है. वहीं अगर समय रहते इसका इलाज ना किया जाए तो व्यक्ति के लिए हानिकारक साबित हो सकता है. आज के इस आर्टिकल में हम आपको यूरिक एसिड के कुछ मुख्य लक्षण एसिड के बढ़ने के कारण और उनसे जुड़े परिजनों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आगे चलकर आपके लिए फायदेमंद साबित होंगे.

यूरिक एसिड के लक्षण

-शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने का सबसे पहला लक्षण आपके पैरों एवं जोड़ों में दर्द की शिकायत रहना हो सकता है.

-यदि आपकी एड़ियों में दर्द कम नहीं हो रहा तो एक बार अपने डॉक्टर से यूरिक एसिड के बारे में जान लीजिए.

-कई बार शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने के कारण गाठों में सूजन पड़ जाती है जिसके कारण कई बार व्यक्ति को पेशाब करने में दर्द महसूस होता है.

-लगातार शुगर के लेवल का बढ़ना भी यूरिक एसिड का एक लक्षण हो सकता है.

यूरिक एसिड बढ़ने के कारण

1. बहुत से लोगों के शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने का मुख्य कारण अनुवांशिकता हो सकता है यानी कुछ लोगों की हर पीढ़ी में इस एसिड के बढ़ने की समस्या पाई जाती है.

2. किडनी द्वारा सीरम यूरिक एसिड का कम उत्सर्जन करने से भी इसकी मात्रा शरीर में बढ़ जाती है.

3. समय पर खाना ना मिलना या फिर तेजी से वजन घटना भी यूरिक एसिड को बढ़ावा देता है.

4. डायबिटीज एवं पेशाब बढ़ाने वाली दवाओं के उपयोग से भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है.

5. लगातार थायराइड के कम या बढ़ने के चलते भी यूरिक एसिड में बढ़ोतरी होती है.

6. जिन लोगों के शरीर में जरूरत से अधिक आयरन मौजूद रहता है उन्हें यूरिक एसिड की समस्या से जूझना पड़ता है.

7. शराब एवं एल्कोहलिक पदार्थों के सेवन से भी यूरिक एसिड की मात्रा में बढ़ोतरी होती है.

यूरिक एसिड में परहेज

यूरिक एसिड की समस्या में अच्छी डाइट का होना अति आवश्यक है क्योंकि आपके गलत खानपान के चलते इस एसिड में बढ़ोतरी हो सकती है जो कि कई बार जानलेवा भी साबित हो सकती है. नीचे हमने कुछ खालो के बारे में कितने की है जिनके परहेज से आप यूरिक एसिड की मात्रा को कम कर सकते हैं:

यदि आपके अंदर यूरिक एसिड का स्तर अधिक है तो आप प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों का परहेज करें. इसके चलते आप भूल से भी आंतरिक अंग जैसे की कलेजी गुर्दा, भेजा आदि ना खाएं.

रात को सोते समय दूध या दाल का सेवन भी नहीं करना चाहिए. अगर फिर भी दाल खाने का मन करता है तो छिलके वाली दाल खाएं।

Related Articles

Close