आखिर क्यों गुजरात विधानसभा चुनावों में कांग्रेस खा रही बीजेपी से मात? जानें बेहद ख़ास बात

नई दिल्ली: गुजरात विधानसभा चुनावों के नतीजे जानने के लिए पूरा देश परेशान है। मतगणना का कार्य सुबह से ही चल रहा है और शुरूआती रुझानों को देखते हुए कहा जा सकता है कि गुजरात में इस बार भी बीजेपी की ही सरकार बनेगी। आखिर राहुल गाँधी ने इतनी मेहनत की, उसका फल उन्हें नहीं मिलेगा। इस बार गुजरात चुनाव के कई रंग देखने को मिले। जहाँ चुनाव से पहले गुजरात में बीजेपी ने कांग्रेस के ऊपर जमकर निशाना साधा, वहीँ कांग्रेस के राहुल गाँधी ने केवल विकास के मुद्दों पर बात की।

कांग्रेस कोई पार्टी नहीं बल्कि है एक कुनबा, औरंगजेब शासन कहकर पीएम मोदी ने साधा राहुल और कांग्रेस पर निशाना

गुजरात के बारे में कहा जाता है कि यह भारत का सबसे विकसित राज्य है। अगर गुजरात पहले से ही विकसित है तो वहाँ पर विकास की क्या जरुरत है और राहुल गाँधी बार-बार क्यों विकास की बात कर रहे थे। अगर गुजरात बीजेपी के कहे अनुसार विकसित नहीं है तो क्या गुजरात के लोगों को विकास से परहेज है क्या जो कांग्रेस की बातों को दरकिनार करते हुए बीजेपी को चुना। इस चुनाव में पीएम मोदी की साख भी दाव पर लगी हुई थी।

मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान में कहा था कि मोदी को हटा दो रास्ते से: पीएम मोदी

पीएम मोदी का गृह राज्य गुजरात है और इसे बीजेपी का गढ़ माना जाता है। चुनाव से पहले कांग्रेस की हवा गुजरात में काफी अच्छी दिखाई दे रही थी। लेकिन अचानक से यह हवा बीजेपी के पक्ष में बहने लगी। आखिर ऐसा क्या हुआ कि कांग्रेस के हाथ में आती हुई बाजी अचानक से बीजेपी के हाथ में चली गयी। आपको कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर की बात तो याद ही होगी। उनके द्वारा पीएम मोदी को नीच कहा जाना कांग्रेस के लिए काफी हानिकारक साबित हो गया।

बीजेपी ने इसको अच्छे से भुनाया और गुजराती लोगों को इमोशनली अपनी तरफ कर लिया। इसके बाद ही कांग्रेस की स्थिति ख़राब होने लगी। हालांकि अब भी सौराष्ट्र में कांग्रेस की स्थिति काफी मजबूत बनी हुई है। पटेल इस बार कांग्रेस की तरफ से थे, इसका फायदा कांग्रेस को मिला है। इसके बाद भी कांग्रेस की स्थिति काफी डंवाडोल लग रही है। खैर जो भी हो चुनाव में कौन जीतेगा इसका पता कुछ ही देर में लग जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.