समाचार

गुजरात चुनाव : शुरुआती रुझानों में कांग्रेस 87 सीटों पर आगे, जानिए क्या है बीजेपी का हाल?

अहमदाबाद गुजरात विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार का दौर इस बार बेहद धमाकेदार रहा। नेताओं ने प्रचार के दौरान अपनी सारी मर्यादाएं लांघते हुए बयानों की झड़ी लगा दी। बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी दोनों के लिए गुजरात में जीत काफी अहम है। आपको बता दें कि आज गुजरात और हिमांचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के वोटों की गिनती जारी है। इस बार गुजरात में कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी और पट्टीदारों के नेता हार्दिक पटेल बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। अब ये देखना दिलचस्प होगा की यहां बाजी कौन मारता है।

पूरे देश की निगाह इस वक्त गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजों पर टिकी हुई है। आपको बता दें कि वोटों की काउंटिंग शुरु है और शुरुआती रुझानों में जैसी की उम्मीद थी बीजेपी आगे चल रही है। गौरतलब है कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों दलों के नेता इस चुनाव में जीत का दावा किया है। शुरुआती रुझानों में बीजेपी अब तक आई सीटों के रुझानों के मुताबिक, 83 पर आगे और कांग्रेस 87 पर कांग्रेस आगे चल रही है। हिमाचल में कुल 62 सीटों के लिए 337 उम्‍मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा। लोकसभा चुनाव 2019 से पहले गुजरात का चुनाव सभी के लिए बेहद अहम माना जा रहा है।

कुछ ही घंटों में ये बात साफ हो जायेगी की लगभग 20 सालों से यहां राज कर रही बीजेपी को दोबारा मौका मिलेगा कि नहीं। लेकिन, दोनों राज्यों के रुझानों में अभी तक बीजेपी को कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिलती दिख रही है। कांग्रेस ने रुझानों में  बीजेपी को चौंकाते हुए दोनों राज्यों में बराबरी कर ली है। गुजरात और हिमांचल के नतीजे राहुल गांधी और बीजेपी की प्रतिष्ठा से भी जुड़े हैं। गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का गृह राज्य होने की वजह से बीजेपी की प्रतिष्ठा दाव पर है।

बता दें कि गुजरात में 182 सीटों के लिए हुई वोटिंग में बीजेपी फिल्हाल रुझानों में बीजेपी अब तक आई सीटों के रुझानों के मुताबिक, 83 पर आगे और कांग्रेस 87 पर कांग्रेस आगे चल रही है। दोनों राज्यों में बीजेपी को कांग्रेस से मिलती कड़ी टक्कर के बाद यही कहा जा रहा है कि जीएसटी और नोटबंदी जैसे फैसलों को लेकर लोग बीजेपी से गुस्सा हैं। गौरतलब है कि गुजरात में व्यापारियों की संख्या ज्यादा है जो मोदी सरकार के जीएसटी और नोटबंदी जैसे फैसलों से काफी नाराज हैं। रुझानों के बाद एक ऐसे राज्य में जिसमें खुद मोदी इतने सालों तक सीएम रह चुके हैं, वहां ऐसी हालत बीजेपी के लिए चिंता का विषय है।

Back to top button