पीएम मोदी को नीच कहने वाले कांग्रेसी नेता मणिशंकर का निलंबन, जेटली बोले यह है कांग्रेस की साजिश

नई दिली: गुजरात चुनाव प्रचार के आख़िरी दिन कांग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी के ऊपर निशाना साधते हुए उन्हें अपशब्दों से संबोधित किया। मणिशंकर ने पीएम मोदी को नीच तक कह डाला। इसके बाद मणिशंकर की निंदा खुद कांग्रेसी नेताओं ने भी की। अपने बचाव में उन्होंने कहा कि पीएम मोदी कांग्रेसी नेताओं के लिए अपशब्दों का प्रयोग करने से बाज नहीं आते, इसलिए उनके साथ भी ऐसा ही होना चाहिए। उनके नीच वाले बयान के बाद उन्हें कांग्रेस से निलंबित कर दिया गया है।

मणिशंकर के निलंबन के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि यह कांग्रेस की राजनीतिक साजिश है। उन्होंने जनता से यह अपील भी की है कि वह सच को पहचाने। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि पीएम मोदी के खिलाफ जातिगत शब्दों का प्रयोग, फिर पार्टी द्वारा रटी-रटाई माफ़ी और साजिश के तहत मणिशंकर का निलंबन, लोगों को इस खेल को समझना चाहिए। जेटली ने कहा कि कांग्रेस ने पीएम मोदी को नीच कहकर देश के निचले और कजोर तबके को ललकारा है।

मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान में कहा था कि मोदी को हटा दो रास्ते से: पीएम मोदी

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की ताकत उस समय दिखेगी जब एक शालीन व्यक्ति राजनीतिक वंश को बुरी तरह से हराएगा। अय्यर के द्वारा पीएम मोदी को नीच कहा जाना इस बात का संकेत देता है कि देश की राजनीति में एक ख़ास परिवार का ही अधिकार है, बाकी सभी लोग नीच हैं। कांग्रेस की इस सोच का जनता उन्हें करारा जवाब देगी। तब कांग्रेस को लोकतंत्र की असली ताकत के बारे में पता चलेगा।

गुजरात चुनाव से ठीक पहले कांग्रेसी नेता का यह बयान कांग्रेस के सामने कई मुसीबतें खड़ी कर सकता है। जहाँ एक तरफ कांग्रेस की स्थिति गुजरात में ठीक-ठाक थी, कहीं वह इस बयान के बाद गड़बड़ ना हो जाये। हालांकि अभी भी आंकड़ों के हिसाब से यह लगता है कि कांग्रेस से बीजेपी गुजरात में बहुत आगे है। मणिशंकर का यह बयान बीजेपी के पक्ष में ही गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.