खो दिया है आपने कोई प्रिय व्यक्ति या वस्तु ,तो सुदर्शन चक्र का ये मंत्र जरूर आजमाएं

वैसे तो जीवन में खोना-पाना, मिलना और बिछड़ना ये सब किस्मत का खेल होता है .. पर कई बार जब हमारी प्रिय वस्तु या हमारा जानने वाला कोई व्यक्ति अगर अचानक ही गुम हो जाता है तो उसका बड़ा कष्ट होता है। उसे पाने के लिए हम ऊपर वाले से लाख विनती करते हैं पर फिर भी वो नही मिलता है तो हम हताश हो जाते हैं। जीवन से निराश हो जाते हैं पर हम आपको बता दें ऐसे में निराश होने का आवश्यकता नही क्योंकि शास्त्रों में इसका भी उपाय बताया गया है .. जी हां, आज हम आपको उसी उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके प्रयोग से आप अपनी खोई हुई वस्तु या व्यक्ति को पा सकते हैं।

सुदर्शन चक्र के बारे में तो आप जानते ही होंगे भगवान विष्णु और श्रीकृष्ण के शस्त्र रूप में पौराणिक कथाओं में आपने इसे सुना होगा .. पर इसके महत्व से शायद ही आप परिचित होगें। प्राचीन काल में ये एक ऐसा अचूक अस्त्र था कि जिसे छोड़ने के बाद यह लक्ष्य का पीछा करता था और उसका काम तमाम करके वापस अपने छोड़े गए स्थान पर आ जाता था। ऐसे में इसे बारे में शास्त्रों में वर्णित है कि ये किसी भी दिशा अथवा किसी भी लोक में जाकर वांछित सामग्री या व्यक्ति खोज लाने में भी सक्षम है और इसीलिए इसकी साधना से खोई हुई वस्तु पाई जा सकती है। ऐसी मान्यता है कि कलयुग में भी सुदर्शन चक्र की ये दैविय शक्ति काम करती है और सुदर्शन चक्र के मंत्र का जाप कर अपनी खोई हुई वस्तु को पा सकते हैं।

सुदर्शन चक्र की साधना के जरिए अपनी वस्तु को पाने के लिए आप सबसे पहले दीपक जलाकर पूर्व अथवा उत्तर दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाए .. फिर अपनी गुम हुई वस्तु की कामना करते हुए भगवान विष्‍णु के सुदर्शन चक्रधारी रूप का ध्यान करें। ऐसे में चक्र का रक्त वर्ण में ध्यान करें और इस मंत्र का पूरे विश्वासपूर्वक जाप करें।

मंत्र :- ॐ ह्रीं कार्तविर्यार्जुनो नाम राजा बाहु सहस्त्रवान।

यस्य स्मरेण मात्रेण ह्रतं नष्‍टं च लभ्यते।।

मान्यता है कि इस तरह पूरी श्रद्धा से ये साधना की जाए तो जिस वस्तु या व्यक्ति का आप कामना कर रहे हैं वो शीघ्र ही आपको मिल जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.