वीडियो : संसद के पास महिला पत्रकार से जबरदस्ती करते दिखा मनचला, 10 मिनट में दो लड़कियों को…

नई दिल्ली – देश की राजधानी हर मामले में अन्य राज्यों से पीछे होते जा रहा है। बात चाहे प्रदुषण की हो या महिलाओं की सुरक्षा की दिल्ली अन्य राज्यों के मुकाबले हर जगह नाकाम रही है। ताजा मामला दिल्ली के आईटीओ मेट्रो स्टेशन का है, जहां एक लड़की से छेड़छाड़ और मारपीट करने की घटना सामने आई है। यह घटना सोमवार रात 9 बजे की है। जब एक लड़की कहीं जाने के लिए आईटीओ मेट्रो स्टेशन की सिढ़ियों से उतर रही थी, उसी वक्त वहां खड़े एक युवक ने लड़की का पीछा किया और मौका मिलते ही छेड़छाड़ करने लगा।

संसद भवन के पास महिला पत्रकार से छेड़खानी

राजधानी दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था पर एक बार फिर से सवालिया निशान लगाते हुए छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। शर्मनाक बात ये है कि घटना इस बार संसद भवन के दो किलोमीटर पास हुई है। मनचले ने न केवल मेट्रो स्टेशन के भीतर महिला पत्रकार से छेड़खानी की बल्कि विरोध करने पर उसके साथ मारपीट भी की। हालांकि, लड़की की बहादुरी के आगे उसकी एक न चली और वह वहां से भाग खड़ा हुआ।

बात पुलिस की करें तो कुछ देर बाद वहां पहुंची और मामला दर्ज किया। हालांकि, इस मामले मे तेजी दिखाते हुए पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ा है। गौरतलब है कि इस मनचले ने सिर्फ 15 मिनट के दौरान ही दो लड़कियों से छेड़छाड़ की है। खबर के मुताबिक पीड़ित महिला पत्रकार है और एक अखबार के लिए काम करती है। जब वह दिल्ली पुलिस मुख्यालय के पास आईटीओ मेट्रो में सीढ़ियों से जा रही थी तभी अचानक एक शख्स उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा।

10 मिनट में 2 महिलाओं से की छेड़छाड़

इस मनचले ने सिर्फ 15 मिनट के दौरान ही दो लड़कियों से छेड़छाड़ की है। पकड़ा गया शख्स आईटीओ के पीछे स्थित संजय कॉलोनी में रहता है और इसका नाम अखिलेश कुमार है। गौरतलब है कि इस शख्स ने आईडीओ मेट्रो की सीढ़ियों पर 10 मिनट के अंतराल में 2 महिलाओं के साथ छेड़खानी की और दुसरी बार महिला पत्रकार को निशाना बनाया था। हालांकि, महिला पत्रकार द्वारा विरोध करने पर वह वहां से भाग खड़ा हुआ।

बताया जा रहा है कि जब महिला सीआईएसएफ के पास इस घटना की शिकायत दर्ज कराया तो उसे 1 घंटे तक इंतजार करवाया गया गया, जिसकी वजह से वह उस वक्त नहीं पकड़ा जा सका। पीड़िता के मुताबकि, शख्स ने पहले उसके शरीर को टच किया और उसके शरीर पर हाथ डालना चाहा। हालांकि महिला की हिम्मत की वजह से वह भाग निकला। वहां कोई सुरक्षाकर्मी मौजूद न होने की वजह से वह उस वक्त नहीं पकड़ा जा सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published.