एस्ट्रोलॉजी

मंदिर से चप्पल चोरी होना अशुभ नही, जीवन में बदलाव का संकेत है..जानिए इसका अभिप्राय

हमारे जीवन मे कई सारी ऐसी घटनाए होती रहती हैं जो हमें विचलित करती हैं चूंकि इनका मतलब हम नही समझ पाते और उलझन में पड़ जाते हैं..लेकिन वास्तव में देखा जाए तो इनके पीछे कुछ विशेष अभिप्राय होता है। ऐसी ही एक सामान्य सी घटना है मंदिर से जूते-चप्पल चोरी होना, हम ऐसा कभी भी नहीं चाहते हैं कि हमारी कोई चीज चोरी या गुम हो जाए क्योंकि किसी भी प्रकार की चोरी को अशुभ माना जाता है लेकिन ज्योतिष के अनुसार जूते-चप्पल चोरी होना अशुभ नही बल्कि शुभ माना गया है और इसके साथ ही मान्यता ये है कि बार बार ऐसा होने का पीछे कुछ अभिप्राय होता है और आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि वास्तव में मंदिर से जूते चप्पल चोरी होने का किस बात का संकेत है..

वैसे तो चोरी होना आपके धन की हानि को दर्शाता है लेकिन जूते-चप्पल की चोरी शुभ है और  खासतौर पर यदि शनिवार के दिन चमड़े के जूते चोरी होते हैं तो इसे बहुत अच्छा समझना चाहिए। जिसके ऊपर शनि की साढ़े साती और शनि का दोष होता है वे  लोगो अपना दोष उतारने के लिए शनिवार के दिन अपने जूते – चप्पल मंदिर में जानबूझ कर छोड़ देते है जिसकी वजह से उनके उपर से सारी परेशानिया दूर हो जाती है।

क्या कहता है ज्योतिष

दरअसल ज्योतिष शास्त्र में शनि को क्रूर और कठोर ग्रह माना गया है। शनि जब किसी व्यक्ति को विपरित फल देता है तो उससे कड़ी मेहनत करवाता है और नाम मात्र का प्रतिफल प्रदान करता है। जिन लोगों की कुंडली में साढ़ेसाती या ढैय्या हो, या जिसकी राशि में शनि अच्छे स्थान पर न हो, उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन शनि के इस क्रूर दृष्टि से राहत भी मिल सकती है जिसके लिए कुछ उपाए करने होते हैं जैसे कि शनिकारक चीजों का दान करना।  जूतें और चप्पल भी शनिकारक माने जाते हैं क्योंकि हमारी त्वचा और पैर का कारक ग्रह शनि है। इसलिए शनिवार को कुछ लोग शनि मंदिर जाकर चप्पल दान करते है ऐसे में अगर अनायास ही हमारे जूते चप्पल  चोरी होते हैं तो आप परेशान ना हो क्योंकि ये तो शनि के क्रूर दृष्टि से राहत मिलने का संकेत है .. मतलब अब हमारी परेशानी कम हो जाएगी। शनि अब ज्यादा परेशान नहीं करेगें। इसीलिए शनिवार को शनि मंदिरों में जूते भी छोडऩे से शनि के कष्ट कम हो जाते हैं।

तो आशा करते है की आगे से कभी आप के चप्पल , जूते खोने पर आप कभी दुखी नहीं होंगे बल्कि और खुश होंगे क्यूंकि जूते , चप्पल जाने के साथ ही आपके ऊपर से सभी समस्याए भी उनके साथ चली जाएगी और आपके जीवन के संकट दूर हो जायेगे इसके साथ ही आपके घर में खुशिया आएँगी और सभी कार्य पुरे होंगे ।

 

Related Articles

Close