नई दिल्ली: भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र सिंह मोदी ने भारत में उन्नति लाने की कईं बड़ी कोशिशे की हैं. जिनमे से पिछले साल 8 नवम्बर को की गयी नोटबंदी ने पूरे भारत में तहलका मचा दिया था. करप्शन मिटाने के लिए नोटबंदी नरेन्द्र मोदी की पहली चुनौती थी. इस दौरान बहुत सारे काले काम ठप पड़ गये. इस दौरान भारत में कितनो के काले धन बर्बाद हो गये और कई लोगो ने तो सारा काला धन जला दिया. इससे भारत को तरक्की की नयी राह मिल गयी थी. नोट बदलवाने के लिए लोग लम्बी लम्बी कतारों में सारा दिन लगे रहते थे. बहुत सारे लोगो के पास आज भी पुराने 500 और हजार के नोट हैं. तो दोस्तों घबराईये मत. मोदी जी ने एक और नया धमाका किया है. इसके अनुसार अगर आपके पास अभी तक पुराने नोट बाकी हैं तो आपको उन्हें कहीं फेंकने की जरूरत नहीं है बल्कि अब ये नोट भी आपके काम आ सकते हैं. तो चलिए दोस्तों जानते हैं इस पूरी खबर को थोडा विस्तार से…

कोर्ट में दर्ज़ की गयी थी याचिका

नरेन्द्र मोदी ने नोटबंदी के दौरान लोगो को पुराने 500 और 1000 के नोटों को बदलने की ख़ास तारिख रखी थी. उस तारिख के अनुसार लोग 8 नवम्बर से लेकर 31 दिसम्बर तक अपने नोट बदलवा सकते थे. ऐसे में लम्बी लाइन्स के चलते लोग काफी परेशान हो गये थे. कई लोग तो अपनी करेंसी बदलवा ही नहीं सके. इसी के चलते उन्होंने कोर्ट में याचिका दर्ज़ की थी. ये मामला पहले ही संविधान पीठ को भेजा जा चुका था, लेकिन ये याचिकाएं बाद में दाखिल की गईं थीं. परन्तु आरबीआई और भारत सरकार 31 मार्च के बाद साफ़ तौर पर नोट बदलने की मनाही कर चुकी थी.

पहले भी थी एक याचिका

Caste creed or religion vote

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि इससे पहले भी एक महिला ने कोर्ट में याचिका दायर की थी. तब कोर्ट ने उसकी याचिका को ख़ारिज करते हुए कहा था कि अब वह नोट बदलने में उसकी कोई सहयता नहीं कर सकते. क्यों कि ऐसा करने से सरकार की बनाई गयी सारी अवस्था फेल होने का डर था. उस समय में लोगो को नोट बदलने के लिए खिड़की खोल कर देना बहुत बड़ी बात थी. लेकिन अब सरकार की नयी पहल के तहत जिनके पास पुराने नोट हैं उनके नोट बदलाये जा सकते हैं. नरेन्द्र मोदी पर लोगो का विश्वास बड़ता नजर आ रहा है. एक समय में जो लोग नोटबंदी के लिए मोदी जी को दोषी ठहराते थे, आज वही लोग मोदी की तारीफों के पुल बांधते हुए नहीं थकते. आये दिन मोदी कोई न कोई तोहफा भारत को देते ही रहते हैं. कभी पेट्रोल पंप और गैस एजेंसी खोलने के दाम घटा कर तो कभी जापान के साथ हाथ मिलाकर.

ये थी पुरानी डेडलाइन

आपको ये जानकार आशचर्य होगा कि पिछले साल सरकार ने 8 नवम्बर की लोगो को डेडलाइन दी थी. इस डेडलाइन के अनुसार लोग अपने नोट 31 दिसम्बर तक बदलवा सकते थे. लेकिन फिर ये डेडलाइन बड़ा कर 31 मार्च तक कर दी गयी थी. जिसके बाद रिजर्व बैंक ने कहा था कि पुरानी करेंसी को 31 मार्च तक रिजर्व बैंक में जमा किया जा सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.