अजीबोगरीब: चमत्कारी चश्मे पहनाकर करते थे ठगी, दिखाते थे जमीन में गड़ा खजाना और फिर…

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस के हाथ एक ऐसा गिरोह लगा है जो, लोगों को चमत्कारी चश्मा पहनकर ठगी करने का धंधा चलाते थे। पहले यह लोगों को चश्मे की शक्तियाँ दिखाते थे और जब लोगों को भरोसा हो जाता था तप उनसे पैसे ऐठते थे। पुलिस ने बताया कि इस गैंग के मुखिया रिजवान और मोहम्मद आमिर हैं। पहले इनका गिरोह अन्धविश्वासी या भोले-भाले लोगों की तलाश करता था। गिरोह के लोग जमीन में गड़ा सोना दिखाकर लोगों को ठगते थे।

दिखती हैं दीवार का सरिया और जमीन की चीजें:

ठगों का यह गिरोह भारत में घूम-घूमकर लोगों को बताते थे कि उनके पास एक ऐसा चश्मा है जिससे जमीन में गड़ा खजाना दिखता है। केवल यहीं नहीं दीवार के पार खड़े लोग भी दिखाई देते हैं। दीवार का सरिया और जमीन में दबी हुई चीजें भी दिखाई देती हैं। ये लोगों को बताते थे कि इस तरह का चश्मा देश में केवल एक दो राजा लोगों के पास है। जब ये लोगों किसी को चश्मा पहनाते थे तो पीछे खड़ा इन्ही में से कोई प्रोजेक्टर चालू कर देता था, जिससे जमीन के अन्दर की चीजें और दिवार का सरिया दिखने लगता था।

नागमणि और मोरपंखी दिखाकर भी बनाते थे लोगों को बेवकूफ:

गैंग के पास से एक गोल धातुनुमा यंत्र भी पुलिस ने बरामद किया है। इसे दिखा कर भी वे लोगों को ठग लिया करते थे। ठग बताते थे कि जो धातु पुरानी हो जाती है उसमें चुम्बकीय ताकतें आ जाती हैं और वह चावल को अपनी तरफ खीचने लगता है। इसी तरह नागमणि और मोरपंख दिखाकर भी लोगों को बेवक़ूफ़ बनाते थे। लोगों को फ़र्जी खतौनी दिखा कर बैनामा सस्ते दर पर करवाने के नाम पर पैसा लेकर भाग जाते थे। बीएसपी के विधायक असलम राइनी के घरवालों को भी चमत्कारी चश्मे वाले गैंग ने अपना शिकार बना लिया। ज़मीन में गड़ा ख़ज़ाना दिखाने के नाम पर 21 लाख रूपये ठग लिए।

ठगों के पास से बरामद हुई आजादी से पहले की कई चीजें:

मामला पुलिस में पहुँचा. बहराइच की पुलिस ने जब रिज़वान को पकड़ा तो पूरे गैंग का पता चल गया। इनके पास से कई अजीबोग़रीब चीज़ें मिली हैं। किसी पर मैनुफ़ैक्चरिंग का साल 1818 लिखा है तो किसी पर 1793 लेकिन अधिकतर पर ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी लिखा हुआ है। गैंग का सरगना रिज़वान यूपी के बहराइच का है तो आमिर का घर मुरादाबाद में है। ख़लील अहमद और अशोक गुप्ता लखीमपुर के रहने वाले हैं। अनिल, मोइनुददीन और रामनरेश बहराइच के हैं। दिल्ली का रहनेवाला मोहम्मद कयूम भी गिरफ़्तार हो चुका है. पुलिस को अब इस गैंग के बाकी लोगों की तलाश है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.