ब्रेकिंग न्यूज़

घाटी में झाड़ियों के बीच मिले आतंकियों के कई ठिकानें, ठिकानें से मिली चीजें जानकर हो जायेंगे दंग

श्रीनगर: घाटी में आतंकियों के खिलाफ खोज अभियान में लगे सुरक्षा बलों के जवानों को बड़ी सफलता मिली है। घाटी में लगातार आतंकी वारदात को अंजाम देने वाले जैश-ए-मुहम्मद के ठिकानों का सुरक्षा बलों ने पर्दाफाश किया है। आज सुरक्षा बलों ने बताया कि पुलवामा के त्राल में जैश के कई ख़ुफ़िया ठिकानों के बारे में पता चला है। आपको जानकर बड़ी हैरानी होगी कि इन आतंकियों ने अपने ठिकानें झाड़ियों में इस तरह से बनाये थे, जिसे बाहर से देखकर बिलकुल भी पता नहीं लगाया जा सकता था। सुरक्षा बलों ने बचकर आतंकी इन्ही ठिकानों में छुपकर आराम करते थे।

आतंकी ठिकानों से नहीं मिला कोई हथियार:

आराम फरमाने के बाद वह घाटी में जाकर आतंक फैलाते थे। एक उच्च अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर पुलिस, 180 BN CRPF और सेना की 42 राष्ट्रीय राइफल ने मिलकर खोज अभियान में खूंखार आतंकी जैश-ए-मुहम्मद के कई ठिकानों के बारे में पता लगाया है। जैश के आतंकी इन्ही ठिकानों में छुपकर रहते थे और अपने आतंक का कहर घाटी में बरसाते थे। उन्होंने बताया कि आतंकियों के इन गुप्त ठिकानों से कोई हथियार बरामद नहीं हुआ है। लेकिन खाने-पीने और रोजमर्रा की कई चीजें मिली हैं।

कुछ दिनों पहले सेना ने मारा था आतंकी खालिद को:

अधिकारी ने यह भी बताया कि इस ख़ुफ़िया ठिकानें के मिलने के बाद आतंकियों को खाने-पीने की चीजें उपलब्ध करवाने वाले अंडरग्राउंड वर्करों की जाँच में लगी हुई है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि घाटी में आतंकियों के खिलाफ सेना बड़े स्तर पर सर्च अभियान चालू किये हुए है। कुछ दिनों पहले सेना ने जैश-ए-मुहम्मद के ऑपरेशन हेड खालिद को बारामुला में मार गिराया था। खालिद एक घर में छुपा हुआ था, जहाँ सेना ने उसे मार गिराया।

पाकिस्तानी निवासी था आतंकी खालिद:

जानकारी के अनुसार खालिद के पैर में गोली लगी थी। इससे पहले खालिद ने पुलिस पर फायरिंग की थी, जवाबी कार्यवाई में पुलिस ने भी गोलीबारी शुरू कर दी। जहाँ से भागकर वह एक घर में जा छुपा था। खालिद पाकिस्तानी था और वह A++ आतंकियों की श्रेणी में आता था। इससे पहले सेना ने अरनिया सेक्टर में 14 फूट लम्बी सुरंग खोज निकाली थी। सुरंग की खुदाई पाकिस्तान की तरफ से की जा रही थी। पाकिस्तानी आतंकी इसी सुरंग से भारत में घुसनें की फ़िराक में थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button