एक औरत के लिए शादी के बाद सबसे पहला सपना माँ बनना होता है. “माँ” एक ऐसा लफ्ज़ है, जो अपने आप में ही बहुत सारी ममता और फीलिंग्स बयाँ करता है. माँ बनना हर औरत के लिए भगवान का एक तोहफा होता है. भले आज औरतें मर्दों के कंधो से कंधे मिला कर चल र्रहीं हैं, लेकिन फिर भी कुछ औरतें ऐसी भी होती हैं, जिन्हें संतान होने का सुख नहीं मिल पाता. वो औरतें खुद को दुनिया की सबसे बदकिस्मत औरतें मानती हैं. यहाँ तक कि उनके अपने परिवार वाले उसको बाँझ का टैग दे देते हैं. समाज में उनको आम औरतों की तरह इज्जत नहीं दी जाती. आज हम आपके लिए माँ की एक ऐसी सच्ची घटना लेकर आये हैं, जिसको पढ़ कर आप दंग रह जायेंगे. लेकिन वो कहते हैं ना, भगवान जब भी देता है, छपपड़ फाड़ के देता है”

एक औरत पर भगवान की कुछ ऐसी ममता की बारिश की है कि हम और आप सपने में भी नहीं सोच सकते. तो देर किस बात की? चलिए एक नजर डालते हैं इस पूरी खबर पर.
ममता की हो गयी है बारिश 

दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं. एक जो भगवान को मानते हैं और एक जो भगवान को नही मानते. कुछ लोगों पर भगवान जब मेहरबान होते हैं तो खुशिओं की सारी सीमाएँ पार कर देतें हैं. कुछ ऐसा ही एक अजीबो गरीब किस्सा आज हम आपके सामने लेकर आये हैं. जहाँ भगवान ने एक औरत पर अपनी ऐसी कृपया दृष्टि की है कि हर कोई सोच में पड़ने से खुद को रोक नहीं पा रहा. चलिए जानते हैं आखिर ऐसा क्या किया है भगवान ने उस औरत के साथ जो वो सुर्ख़ियों में बन गयी हैं.
101 साल में बन गयी हैं माँ 

हर चीज़ की एक ख़ास लिमिट या आयु होती है. वैसे ही माँ बनने के लिए भी एक ख़ास उम्र निशचित की गयी होती है. उस उम्र में कोई भी औरत बच्चे को जन्म दे सकती है.एक समय के बाद औरत की जनन शक्ति खत्म हो जाती है. लेकिन, हाल ही में एक अजीबो गरीब घटना सामने आई है. जिसके अनुसार एक औरत जिसकी उम्र 101 साल की है, वह अंतिम समय में पहुँच कर फिर से एक बार माँ बन गयी हैं. हालाँकि डॉक्टर्स भी इस बात से हैरान हैं कि इस उम्र में भला कौन बचा पैदा कर सकती है?
17वें बच्चे को दिया है जन्म 

इटली की इस 101 साल की महला ने 17वें बच्चे को जन्म देकर साइंस और डॉक्टर्स को सोच में डाल दिया है. इस उम्र में औरत को ना तो पीरियड्स आते हैं ना ही गरब में बच्चा बनता है. फिर भी इस औरत ने बच्चा पैदा कर लिया और वो भी इतनी नाजुक उम्र में, ये बात किसी के पल्ले नहीं पड़ रही है. जब उस औरत से पुछा गया तो उसने कहा कि ये बच्चा उसके लिए भगवान का आशीर्वाद बन कर तोहफे के रूप में मिला है.
अंडाशय प्रत्यारोपण किया गया था 
101 वर्षीय अनातोलिया नाम इस महला ने हाल ही में 9 पोंड के वजन वाले बच्चे को जन्म दिया है. इस बच्चे के जन्म से बड़े बड़े विज्ञानी भी हैरान हैं. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि अनातोलिया ने तुर्की के एक निजी क्लिनिक से अंडाशय में प्रित्यारोपन करवाया था. हालाँकि यूरोप में इसको बिलकुल अवैद माना जाता है. बहरहाल, बच्चा एक दम तंदरुस्त है और सुर्खिओं में बना हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.