अमेरिका ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को दी चेतावनी, कहा आतंकियों को पनाह देना करो बंद नहीं तो करेंगे कार्यवाई

नई दिल्ली: आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान को अमेरिका ने आखिरी चेतवानी दे दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प आतंकवाद के सख्त खिलाफ हैं। उन्होंने पाकिस्तान को चेतावनी देने के लिए विशेष रूप से अपने विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को पाकिस्तान भेजा था। सूत्रों से पता चला कि टिलरसन ने पाकिस्तान को सख्त लहजे में समझाते हुए कहा कि पाकिस्तान बहाना बनाना बंद करें और आतंकियों के खिलाफ सख्त कार्यवाई करे। ऐसा ना करने पर अमेरिका खुद घुसकर आतंकियों के खिलाफ कार्यवाई करेगा।

अमेरिका ने दी है पाकिस्तान को आतंकियों की एक लिस्ट:

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि उन्होंने पाकिस्तान को आतंकियों की एक लिस्ट भी दी है। जिससे पाकिस्तान उनके खिलाफ कार्यवाई कर सके। पाकिस्तान होते हुए पहली बार वह भारत के दौरे पर भी आये। यहाँ टिलरसन अपने भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज से द्विपक्षीय मुलाकात से पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मुलाकात की। एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार डोभाल ने टिलरसन से कहा कि वह अफगानिस्तान और पाकिस्तान के दौरे से आये हैं। इस वजह से उन्होंने पाकिस्तान का मूल्यांकन करने को कहा।

सख्त लहजे में कहा आतंकियों के खिलाफ कार्यवाई करने को:

टिलरसन ने कहा कि पाकिस्तान को कड़ा सन्देश दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक टिलरसन ने पाकिस्तानी नेतृत्व से सख्त लहजे में कहा कि आतंकी संगठनों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाई करें, वरना ऐसा ना होने पर हम करेंगे। अमेरिका ने अपने मूल्यांकन में पाया कि पाकिस्तान में आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह क्षेत्र में सबसे बड़ी समस्या है। टिलरसन ने यह भी कहा कि अमरीका मानती है कि पाकिस्तान में आतंकियों के सुरक्षित ठिकाने असली समस्या है।

मुंबई हमले में मास्टरमाइंड के खिलाफ करे कार्यवाई:

सूत्रों से यह भी पता चला है कि किसी ख़ास आतंकी संगठन के बारे में चर्चा नहीं की गयी। आपको बता दें भारत मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज़ सईद के खिलाफ कार्यवाई करनें के लिए अमेरिका से पाकिस्तान पर दबाव बनाने के लिए काफी समय से कह रहा है। मुंबई हमले में कई अमेरिकी नागरिकों की भी मौत हुई थी। बुधवार को सुषमा स्वराज और टिलरसन के बीच बातचीत हुई। दोनों ने मिलकर पाकिस्तान को आतंकवाद के मामले पर चेतवानी भी दी कि आतंकवाद की पनाहगाहों को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। पाकिस्तान अपने यहाँ मौजूद आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्यवाई करे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.