अक्सर महिलाएं शादी के बाद मोटी होना शुरू हो जाती हैं. आपने कई बार तो उन्हें यह बोलते हुए भी सुना होगा कि उनका वज़न शादी के बाद बढ़ गया है. ‘द ओबेसिटी’ नामक जर्नल में पब्लिश एक स्टडी के अनुसार शादी के 5 साल के अंदर करीब 82 प्रतिशत कपल्स का वजन 5 से 10 किलो तक बढ़ जाता है. बता दें कि अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन की एक स्टडी के अनुसार इसकी एक बड़ी वजह तो अपने पार्टनर के साथ बनी न्यू रिलेशनशिप के कारण होने वाला हार्मोनल चेंजेज है.

लेकिन यह अकेली वजह नहीं है. खासकर भारतीय महिलाओं के बढ़ते वजन की और भी कई वजह हैं जिनके बारे में न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवाकर ने अपनी किताब ‘वुमेन एंड द वेट लॉस तमाशा’ में विस्तार से बताया है. इसी के हवाले से हम बता रहे हैं ऐसे ही 10 कारण जिसकी वजह से शादी के बाद महिलाओं का वजन बढ़ता है.

नींद पूरी न होना     

शादी के बाद अधिकतर महिलाओं का स्लीपिंग टाइम और पैटर्न बदल जाता है. जिस वजह से कई बार नींद पूरी नहीं होती है. कम से कम सात घंटे न सोने के कारण वजन बढऩे लगता है.

हॉर्मोनल चेंजेज  

शादी के बाद की बदली हुई लाइफस्टाइल के कारण महिलाओं की बॉडी में कई तरह के हॉर्मोनल चेंजेज होते हैं. ऐसे में एक स्थायी और खुशहाल ज़िंदगी पा लेने के बाद सेक्सुअल लाइफ में एक्टिव होना भी वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं.

उम्र का असर

स्टडीज के अनुसार शादी के बाद बढ़ती उम्र के साथ महिलाओं का मेटाबॉलिज्म रेट कम हो जाता है. इससे फैट बर्निंग प्रोसेस स्लो हो जाती है और वजन बढ़ाने लगता है.

सोशल प्रेशर कम होना

शादी के पहले अच्छा दिखने और वजन कम करने के लिए करीबी लोग टोकते हैं. शादी के बाद यह प्रेशर कम हो जाता है, जिसके कारण महिलाएं अपनी फिटनेस पर ज़्यादा ध्यान नहीं देती हैं. उन्हें इस बात की चिंता नहीं रहती कि वो सुंदर दिखे क्योंकि उनके पार्टनर की तलाश खत्म हो चुकी होती है.

ज़्यादा टीवी देखना

शादी के बाद नई फैमिली के साथ अक्सर बैठकर बातें करना या देर तक टीवी देखना कॉमन है. ऐसे में साथ फिल्म देखना और स्नैक्स का सेवन करना लोग काफी पसंद करते हैं. फिजिकली एक्टिव न रहने के कारण महिलाओं में मोटापा बढ़ जाता है.

स्ट्रेस बढऩा

शादी के बाद कई महिलाओं के लिए नए माहौल में एडजस्ट करना मुश्किल हो जाता है. वह बहुत सारे शारीरिक और मानसिक बदलाव से गुज़रती है. इससे स्ट्रेस बढ़ता है जो आंतरिक और बाहरी बदलाव के लिए जिम्मेदार होता है. इस कारण वजन बढऩे लगता है.

प्रेग्नेंसी

ज्यादातर कपल्स शादी के एक या दो साल के अंदर फैमिली प्लानिंग कर लेते हैं. ऐसे में प्रेग्नेंसी के बाद हॉर्मोनल चेंजेज और डाइट के कारण मोटापा बढऩे लगता है. यह स्वाभाविक है.

लापरवाही     


शादी के पहले महिलाएं अपनी फिटनेस पर काफी ध्यान देती हैं. लेकिन शादी के बाद बिजी लाइफस्टाइल के कारण फिटनेस पर ध्यान नहीं दे पाती हैं. ऐसे में वजन बढऩे लगता है.

डाइट में चेंज

शादी के बाद डाइट का ख्याल मन से निकल जाता है. अगर पति की फैमिली के लोग ज्यादा कार्ब्स और फैट वाला खाना खाते हैं, तो महिला को भी वही डाइट लेनी पड़ती है. इससे वजन बढऩे लगता है.

प्राथमिकता में बदलाव

शादी के बाद महिलाओं का ज्यादातर पति और दूसरे फैमिली मेंबर्स के अनुसार रूटीन बन जाता है. उन्हें अपने बाल तक संवारने का टाइम नहीं मिल पाता. ऐसे में महिलाएं खुद पर ध्यान नहीं दे पाती हैं, जिससे वजन बढऩे लगता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.