चुनाव से ठीक पहले फिर पीएम ने किया गृहनगर का रुख, गुजरात को देंगे करोड़ों की योजनाओं का तोहफा

वडनगर: प्रधानमंत्री मोदी एक बार फिर अपने गृहनगर गुजरात की तरफ रुख कर रहे हैं। मोदी की इस यात्रा को देखते हुए यह कहा जा रहा है कि हो सकता है गुजरात विधानसभा चुनाव की घोषणा होनें से पहले यह उनकी आखिरी अहम रैली होगी। बता दें निर्वाचन आयोग द्वारा गुजरात विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा को लेकर उपजे विवाद के बीच पीएम मोदी की एक महीनें में यह तीसरी गुजरात यात्रा है। इस दौरान पीएम मोदी खंबात की खाड़ी में भावनगर जिले के घोघा और भरूच जिले के दहेज़ के बीच 615 करोड़ रूपये की रोल ऑन-रोल ऑफ फेरी का उद्घाटन करेंगे।

घोघा में करेंगे जनसभा को संबोधित:

पीएम मोदी के लिए गुजरात विधानसभा चुनाव क्या महत्व रखता है इसका पता इसी बात से लगाया जा सकता है कि पीएम मोदी की एक महीनें में यह तीसरी और एक साल में नौवीं गुजरात यात्रा है। पीएम मोदी ने गांधीनगर में अपनी पिछली जनसभा के दौरान इस फेरी वाली योजना को महत्वकांक्षी योजना बताया था। आज वह घोघा में जनसभा को संबोधित करेंगे और फेरी से सफ़र करते हुए दहेज़ तक जायेंगे। दहेज़ से पीएम वडोदरा के लिए रवाना होंगे। बताया जा रहा है कि वहाँ वह 1140 करोड़ रूपये की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे।

फेरी के पहले चरण का उद्घाटन होगा आज:

सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के बीच सड़क से सफ़र करना होता है तो कम से कम 10 घंटे का समय लगता है। भरूच से भावनगर के बीच सड़क यात्रा करते ने लिए 310 किमी की दूरी तय करनी पड़ती है। लेकिन समुद्र के रास्ते से यह दूरी मात्र 31 किमी ही है। पहली पैसेंजर फेरी बोट घोघा से समुद्री रास्ते होए हुए दक्षिणी गुजरात के दहेज़ तक जाएगी। रो-रो परियोजना का कार्य देख रहे गुजरात मत्स्य बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भडु ने बताया कि मोदी रविवार को पहले चरण का उद्घाटन करेंगे।

फेरी से ले जाया जा सकता है बड़े वाहनों के साथ लोगों को भी:

पहले चरण में केवल यात्रियों के लिए किया जायेगा, जबकि दुसरे चरण का कार्य दो महीने बाद पूरा हो जायेगा। इसके बाद दोनों शहरों के बीच करें भी ले जाई जा सकेंगी। इस परियोजना की आधारशिला उस समय रखी गयी थी जब 2012 में पीएम मोदी गुजरात में मुख्यमंत्री थे। इसके जरिये केवल यात्री ही नहीं बल्कि माल वाहनों की ढुलाई भी हो सकेगी। रो रो फेरी सर्विस में जिस बोट का इस्तेमाल किया जायेगा उसमें 150 बड़े वाहनों के साथ 1000 लोगों को आराम से ले जाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.