नई दिल्ली: गाँधी परिवार पर विजय माल्या की मेहरबानियों के खुलासे के बाद बीजेपी कांग्रेस को घेरनें के चक्कर में लगी हुई है। वहीँ स्मृति ईरानी ने कोई मौका ना गंवाते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। ईरानी ने कहा कि हमेशा ही गाँधी परिवार ने सत्ता का दुरूपयोग किया है। आपको बता दें एक न्यूज़ चैनल ने विजय माल्या और उसके एक सहयोगी से ईमेल के जरिये हुई बातचीत के आधार पर यह खुलासा किया है कि किंगफिशर एयरलाइन सोनिया गाँधी और उनके रिश्तेदारों को सामान्य टिकट बिना पैसे लिए फर्स्ट क्लास में बदले थे।

माल्या को भागानें में सोनिया गाँधी का तो हाथ नहीं:

रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ कि माल्या सोनिया गाँधी पर काफी मेहरबान थासीरियस फ्रंट इन्वेस्टिगेशन ऑफिस की जाँच रिपोर्ट में सारी घटना को सिलसिलेवार तरीके से बताया गया है। किस तरह से विजय माल्या के फ्री टिकटों ने उसके लिए हथियार का काम किया है। इस मामले के सामने आनें के बाद यह भी सवाल उठ रहे हैं कि क्या विजय माल्या को भगानें में सोनिया गाँधी का हाथ तो नहीं है? यूपीए सरकार के अधिकारी विदेश घूमनें में लगे हुए थे इधर माल्या देश के बैंकों को लूट रहा था।

पैसे देकर कर देती है लोगों का मुँह बंद:

बोफोर्स मामले में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी को घेरने का प्रयास करते हुए बीजेपी ने कहा कि आज भी देश बोफोर्स का सच जानना चाहता है। यह स्पष्ट होना चाहिए कि राजीव गाँधी से मिलनें वाला पाकिस्तानी नागरिक कौन था और उसके ब्रीफकेस में क्या था? स्मृति ईरानी ने कहा कि बोफोर्स घोटाले से स्पष्ट है कि कांग्रेस एक तरफ भ्रष्टाचार करती है और दूसरी तरफ जो उसके खिलाफ आवाज उठाता है उसका मुँह पैसे से बंद कर देंगे या उनकी आवाज दबा देंगे।

हर्शमैन ने सीधेतौर पर लगाया था कांग्रेस पर आरोप:

इरानी ने हर्शमैन को उद्घृत करते हुए कहा कि इस मामले में सीधे तौर पर शामिल होनें का आरोप हर्शमैन ने लगाया है। इसपर पार्टी को जवाब देना चाहिए। ईरानी ने यह भी कहा कि माइकल हर्शमैन का मानना है कि स्विट्जरलैंड में जो धनराशी जमा की जा रही है, उसमें बोफोर्स का पैसा है। स्मृति ने कहा कि बोफोर्स मामले में एक बार हर्शमैन को घूस देने और उन्हें मारनें का प्रयास किया गया। स्मृति ने कहा कि देश का नागरिक आज भी बोफोर्स का सच जानना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.