राशिफल

दिवाली में घर में इस तरह लगाएं बस एक मोर पंख, मां लक्ष्मी खोल देगी आपकी किस्मत के दरवाजे

मोर दुनिया के सबसे सुंदर पक्षियों में से एक माना जाता है। आपने कभी ना कभी मोर के नृत्य का खूबसूरत दृश्य देखा ही होगा। पौराणिक काल से मोर पंख का बहुत महत्व रहा है। ऋषि मुनि बड़े-बड़े ग्रंथ मोरपंख की कलम बनाकर ही लिखते थे। मोर हमारा राष्ट्रीय पक्षी तो है ही, वास्तु के अनुसार भी मोर को बहुत भाग्यशाली माना जाता है। वास्तु के अनुसार, घर में एक मोर पंख रखना चाहिए क्योंकि यह धन को आकर्षित करता है। आईयें आपको बताते हैं मोरपंख के क्या लाभ है और इसे कहां रखा जाना चाहिए और इसे घर में रखते समय कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए।

दिवाली के दिन घर में जरूर रखें मोरपंख :

मोर का पंख घर में रखना बहुत शुभ माना जाता है क्योंकि यह हैैै घर में किसी भी तरह की नकारात्मक ऊर्जा या वास्तु दोष को हटाने में बहुत प्रभावी साबित होता है। यह आपके जीवन में लक लेकर आता हैं। इसलिए घर में मोर पंख जरूर लगाएं चाहे तो आप अपने घर या ऑफिस में एक खूबसूरत मोर की पेंटिंग भी रख सकते हैं।

हिंदू धर्म में मोर को धन की देवी लक्ष्मी के साथ जोड़कर देखा जाता है। लक्ष्मी सौभाग्य, खुशहाली, विनम्रता और धैर्य का प्रतीक मानी जाती हैं इसलिए लोग मोर के पंखों का प्रयोग लक्ष्मी की इन्हीं विशेषताओं को हासिल करने के लिए भी करते हैं। भगवान श्री कृष्ण भी अपने मुकुट पर मोर पंख लगा कर रखते थे।

मोर पंख स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभदायक होता है। प्राचीन समय में मोर के पंख का इस्तेमाल शरीर से जहर हटाने के लिए किया जाता था और यही एक कारण है कि मोर का पंख स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है। आप दिवाली के दिन मोरपंख को लाकर अपनी तिजोरी या लॉकर में रख दें तो धन-संपत्ति में वृद्धि आरंभ हो जाएगी और लंबे समय से अटके पड़े काम भी पूरे होने लगेंगे।

मोर का एक पंख आपके घर को स्वच्छ रखने में भी मदद कर सकता है क्योंकि मोर के पंख से छिपकलियां दूर भागती है और कीड़े-मकोड़े घर में दाखिल नहीं होते। यह बुरी शक्तियों और प्रतिकूल चीजों के प्रभाव से बचाकर रखता है। मोर पंख को घर पर रखने से सुख-शांति आती है और सभी रुके हुए कार्य भी पूरे हो जाते है।

बेडरूम में एक सुंदर मोर की तस्वीर रखने से घर में सकारात्मकता ऊर्जा आती है और इससे आपके घर की खुशियों में वृद्धि तथा धन में बढ़ोत्तरी होती हैं। मोर की तस्वीर को दरवाजे के सामने रखा जाना चाहिए ताकि यह घर से किसी भी नकारात्मक ऊर्जा को निकाल सके। ऐसा करने से बड़े से बड़ा शत्रु भी मित्र बन जाता है और आपका साथ देने लगता है।

मोरपंख कालसर्पदोष को भी दूर करता है इससे कुंडली में राहू-केतू का अशुभ प्रभाव कम हो जाता है। नवजात शिशु के सिरहाने पर चांदी के ताबीज में एक मोर पंख भरकर रखने से बच्चे को नजर नहीं लगती। लेकिन सबसे ज्यादा ध्यान रखने वाली बात यह है कि जब भी मोरपंख खरीदे तो इसे जबरदस्ती मोर के शरीर से नहीं तोड़ना चाहिए, क्योंकि मोर के शरीर से पंख तोड़कर लगाने से बहुत नुकसान होता है।

Back to top button
?>