लाख गांधी, हजार मोदी भी नहीं कर सकते ये काम, आखिर क्यों पीएम को बोलनी पड़ी ये बात – देखें वीडियो

नई दिल्ली : गाँधी जयंती  के अवसर पर ‘स्वच्छ भारत अभियान’ को भी तीन साल पूरे हो रहे हैं. इस मौके पर विज्ञान भवन में पीएम नरेंद्र मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि 1 लाख गांधी जी आ जाएं, 1 हजार मोदी आ जाएं तो भी स्वच्छता का सपना पूरा नहीं हो सकता जबतक की उन्हें सवा सौ करोड़ देशवासियों का साथ न मिले.

देशवासियों के बिना अधूरा है स्वच्छ भारत का सपना

संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छता को लेकर किसी तरह का मतभेद नहीं है. स्वच्छता के लिए एक प्रतियोगी माहौल बनाया जाना आवश्यक है. समाज के स्वभाव में भी हमें बदलाव लाना जरुरी है. उन्होंने कहा कि स्वच्छता का वातावरण बनाया जाएगा जिससे लाभ होगा. बच्चे स्वच्छता के सबसे बड़े ऐंबेसडर हैं.

पीएम ने स्वच्छता के प्रति जागरूकता का आह्वान करते हुए कहा कि हजारों गांधी, लाखों मोदी और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री भी स्वच्छ भारत का सपना पूरा नहीं कर सकते जब तक उन्हें 125 करोड़ भारतीयों का साथ ना हो। यह बात विज्ञान भवन में पीएम नरेंद्र मोदी ने कही.

सभी के सहयोग से बनेगा स्वच्छ इंडिया

पीएम ने कहा कि महात्मा जी की बातें गलत नहीं हो सकती है. इसलिए मैंने इस रास्ते को चुना. पीएम ने कहा कि 125 करोड़ भारतीयों का साथ ना हो तो एक हजार महात्मा गांधी, 1 लाख मोदी भी मिलकर स्वच्छ भारत का सपना पूरा नहीं कर सकते हैं. अब जो गंदगी करेगा उसकी खबर बनेगी. हालाँकि टॉयलेट बनाते हैं तो उपयोग नहीं होता है, ये खबरें बुरी बात हैं.

उन्होंने कहा की राजनीति में आने से पहले मैंने संगठन में रहकर भी सफाई के लिए काम किया है और पैसा इक्ट्ठा कर गुजरात में एक गांव को गोद लिया. मैंने गाँव को गोद लेकर उसमें स्वच्छता की व्यवस्था करवाई. आपको बता दें की गाँधी जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री ने स्वच्छता ही सेवा का आह्वान किया हैं.

देखें वीडियो –

Leave a Reply

Your email address will not be published.