रेप के दोषी रामरहीम के पकड़े जाने के बाद से उसकी मुंह बोली बेटी हनीप्रीत हरियाणा पुलिस के लिए सिर दर्द बन गयी है..जिसकी तलाश में दिल्ली, हरियाणा, यूपी और बिहार के तमाम जिलों में खाक छानने के साथ पुलिस ने नेपाल तक छापे मारी की …पर अब जबकि उसके वकील के जरिए ये बात सामने आचुकी है कि हनीप्रीत कहीं और नही बल्कि दिल्ली में ही छुपी बैठी है ..मंगलवार को उसकी तलाश में पुलिस नें दिल्ली के एक आलीशान बंगले में छापे मारी की है।

हरियाणा पुलिस ने जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की कथित दत्तक पुत्री हनीप्रीत इंसां को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली के कई स्थानों पर छापेमारी की है। दरअसल गुरमीत राम रहीम को बलात्कार के दो मामलों में दोषी करार दिए जाने के बाद भड़की हिंसा के संबंध में हनीप्रीत के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था और सोमवार को हनीप्रीत के दिल्ली में होने की सूचना मिलने पर हरियाणा पुलिस ने अरेस्ट वॉरंट के साथ मंगलवार को दिल्ली के ग्रेटर कैलाश स्थित एक घर में छापा मारा, लेकिन हनीप्रीत वहां नहीं मिली।

जमानत याचिका पर दिया था बंगले का पता, रामरहीम भी यहीं ठहरता था

हनीप्रीत के दिल्ली में होने की सूचना पर हरियाणा पुलिस ने अरेस्ट वॉरंट के साथ दिल्ली के ग्रेटर कैलाश स्थित एक घर में छापा मारा, लेकिन हनीप्रीत वहां नहीं मिली। बाद में एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने दिल्ली में पड़े छापे की जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि हरियाणा पुलिस के साथ दिल्ली की सीआर पार्क पुलिस ने मिलकर जीके एन्क्लेव इलाके में रेड किया। यहां 750 गज की एक कोठी है, जोकि डेरा की प्रॉपर्टी है। पुलिस के मुताबिक, इस प्रॉपर्टी की देखरेख राजीव मल्होत्रा नाम का शख्स करता है। इस एड्रेस पर छापा क्यों मारा गया, इस बारे में पूछे जाने पर पुलिस ने बताया कि हनीप्रीत के बेल ऐप्लिकेशन में इसी पते का जिक्र था।इसके अलावा, राम रहीम भी दिल्ली आने पर यहीं ठहरता था। इसलिए पुलिस को शक था कि हनीप्रीत यहां हो सकती है।

पीछे के गेट से भागी हनीप्रीत

राजधानी और पंचकुला पुलिस की ज्वाइंट टीम दो घंटे के सर्च ऑपरेशन के बावजूद जेल में बंद गुरमीत राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत को पकड़ नहीं सकी। टीम ने मंगलवार सुबह ग्रेटर कैलाश पार्ट टू एंक्लेव स्थित आलीशान कोठी ए-9 पर दबिश डाली। वहां पहुंचने पर कोठी का मेन गेट अंदर से बंद था। ऐसे में पुलिस ने केयर टेकर राजीव मल्होत्रा को कॉल कर कोठी का दरवाजा खुलवाया और 2 घंटे तक हर कमरे की सघन तलाशी ली, लेकिन हनीप्रीत वहां नहीं मिली। दरअसल, पुलिस ने मेन गेट से कोठी की एंट्री की थी। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि हनीप्रीत को छापेमारी की जानकारी पहले मिल गई थी, इसलिए वह पिछले गेट से निकल गई थी। कोठी किसी ब्रिगेडियर की बताई गई है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की अग्रिम जमानत अर्जी…

सोमवार को हनीप्रीत ने अपने वकील के जरिए दिल्ली हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दाखिल की, लेकिन कोर्ट ने देर शाम हनीप्रीत की जमानत अर्जी खारिज कर दी। इससे पहले, चीफ जस्टिस गीता मित्तल ने हल्के अंदाज में हनीप्रीत के वकील से पूछा कि हनीप्रीत कहां है? जवाब में वकील ने कोर्ट से कहा कि हनीप्रीत की जान को खतरा है। हरियाणा के डीजीपी भी इस बारे में आशंका जता चुके हैं, इसलिए वह दिल्ली में याचिका दायर कर रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.