यहां चल रहा है ‘हल्ला बोल – लुंगी खोल’ अभियान, ऐसा करते देख उतार ली जाती है लोगों की लुंगी?

झारखण्ड – केंद्र और राज्य सरकारें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा चलाएं गए स्वच्छता अभियान को लेकर काफी सतर्क दिख रही हैं। स्वच्छता अभियान के तहत गांवों को खुले में शौच मुक्त करने के लिए नगर पालिकाएं और पंचायतें नए-नए अभियान चला रही हैं। ऐसा ही एक अभियान रांची में चलाया जा रहा है। जिसका नाम ‘हल्ला बोल, लुंगी खोल’ रखा गया है। इस अभियान की खास बात ये हैं कि जो कोई भी खुले में शौच करते दिखता है नगर निगम के अधिकारी उसकी लुंगी उतार लेते हैं। Ranchi lungi khol campaign.

खुले में शौच के खिलाफ चला अनूठा अभियान

सरकारी आकड़ों के मुताबिक झारखण्ड के 5 जिलों को छोड़कर बाकी सभी जिले खुले में शौच से मुक्त हैं। जिसमें रांची जिला भी शामिल है। लेकिन सरकारी आकड़ों और खुले में शौच से मुक्त जिला घोषित होने के बावजूद इस जिले के लोग अब भी खुले में शौच कर रहे हैं। नगर निगम की सख्ती देख लोगों का कहना है कि सरकार ने खुले में शौच मुक्त घोषित किया है और सार्वजनिक शौचालय भी बनवाए हैं। लेकिन उनका रखरखाव ठीक नहीं है। इसलिए वो खुले में शौच के लिए मजबुर हैं।

क्या किया जाता है इस अनूठे अभियान में?  

दरअसल, पूरे जिले में चलाये जा रहे इस अभियान के तहत नगर निगम की टीम कुछ चिन्हित जगहों पर सुबह पहुंच जाती है। ये टीम खुले में शौच करने वाले लोगों को टारगेट करती है। आपको बता दें कि इस अभियान से पहले नगर निगम कई बार लोगों को खुले में शौच न करने की अपील की थी। इसके बावजूद लोगों पर इसका कोई असर नहीं हुआ। इसलिए मजबूरन नगर निगम को ऐसा कदम उठाना पड़ा। नगर निगम के अधिकारीयों के अनुसार इस अभियान की से लोगों की खुले में शौच करने की संख्या में कमी आई है।

लोगों में है नाराज़गी

वहीं इस अभियान पर कुछ लोग नाराज़ भी हैं। झारखंड फाउंडेशन के अध्यक्ष विष्णु राजगढ़िया ने इस अभियान की आलोचना करते हुए कहा है कि, स्वच्छता अभियान अच्छी बात है। लेकिन इस तरीके से किसी की लुंगी खुलवाना या फिर उसे घर से दूर ले जाकर छोड़ना निंदनीय है। इसके अलावा भी लोगों में इस अभियान को लेकर काफी नाराजगी है। वहीं नगर निमग की ओर से कहा जा रहा है कि कई जगहों पर सार्वजनिक शौचालय बनवाए गए हैं, लोगों को इनका इस्तेमाल करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.