All News, Breaking News, Trending News, Global News, Stories, Trending Posts at one place.

अखिलेश यादव ने लगाया बीजेपी पर आरोप, विपक्षी नेताओं को झूठे केस में फँसा रही है भाजपा

लखनऊ: देश की सत्ता नरेन्द्र मोदी ने 2014 में संभाली और आते ही कहा ना खाऊंगा ना ही खानें दूंगा। इस नारे के बाद से उन्होंने सभी सरकारी कर्मचारियों और सांसदों को कड़ा निर्देश दिया कि जो पहले होता था वो अब नहीं होगा अब से आप लोगों को जनता के लिए काम करना होगा। मोदी सरकार की इन्ही नीतियों की वजह से जनता का भरोसा लगातार मोदी सरकार और बीजेपी पर बढ़ता गया।

सीएम के रूप में आदित्यनाथ को पाकर जनता में जगी कई उम्मीदें:

इसका फल इस साल हुए उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में देखने को मिला। जिस तरह से देश की जनता ने बीजेपी पर भरोसा दिखाते हुए 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को भारी बहुमतों से विजयी बनाया था। ठीक उसी तरह विधानसभा चुनाव में भी प्रदेश की जनता ने बीजेपी को चुना। सीएम के रूप में योगी आदित्यनाथ को चुना गया। सीएम के रूप में आदित्यनाथ को पाकर प्रदेश की जनता को काफी उम्म्दें जगीं।

इधर लगातार बीजेपी की सत्ता हर राज्य में बनते देख देश की सभी विपक्षी पार्टियों के होश उड़े हुए हैं। सभी को आश्चर्य हो रहा है कि कोई कैसे ऐसे बिना हार के जीत रहा है। यही हाल इस समय उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का है। वह बीजेपी की लगातार जीत से तिलमिलाए हुए हैं। उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि संकीर्ण मानसिकता और बदले की भावना से भरी भारतीय जनता पार्टी विपक्ष के नेताओं को झूठे मामलों में फँसाने की कोशिश में लगी हुई है।

विपक्षी नेताओं को फँसाने में लगी है झूठे मामलों में:

लखनऊ पार्टी मुख्यालय में पार्टी के नेताओं को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी बुनियादी मुद्दों से हटकर काम कर रही है। बीजेपी की मानसिकता संकीर्ण और बदले की भावना से भरी हुई है। बीजेपी अपने विपक्ष के नेताओं को झूठे मामलों में फँसाने की साजिश में जुटी हुई है। बीजेपी की केंद्र और राज्य सरकारें दोनों ही देश और राज्य की जनता को धोखा देकर बनी हैं। अखिलेश ने यह भी कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में जनता बीजेपी से सूद समेत हिसाब चुकता करेगी।

नोटबंदी और जीएसटी से चौपट हो गयी देश की अर्थव्यवस्था:

अखिलेश यादव को इस मुश्किल घड़ी में देश के युवाओं की याद आयी और उन्होंने कहा देश के युवा ही क्रांति के वाहक हैं। हमें डिजीटल भारत नहीं किसानों और युवाओं का खुशहाल भारत चाहिए। वर्तमान बीजेपी सरकार देश और प्रदेश के युवाओं, गरीबों और किसानों का हक़ मार रही है। नोटबंदी और जीएसटी से देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने जनता पर भी अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा कि जब बबूल का पेड़ बोया है तो आम कहाँ से मिलेगा। बीजेपी समाज को तोड्नें और बांटने में लगी हुई है, भविष्य में इसके अच्छे परिणाम नहीं होंगे।