CRPF के DG ने दिया ऐसा बयान जो कर देगा आतंकवादियों से सहानुभूति रखने वालों की बोलती बंद

सीआरपीएफ मुखिया बोले कि उपद्रवी सेना के कैंपों को लगातार निशाना बना रहे हैं। सुरक्षाबलों के 29 ठिकाने जला दिए गए। पत्थरबाजी में जवानों के सिर फूट रहे हैं। सेना की गाड़ियों को ग्रेनेड से उड़ाने की कोशिश हो रही है। जब सामने वाला एके-47 से गोली चला रहा है तो हमें भी जवाब देना पड़ता है। हमारे जवानों के हाथ-पैर में भी फ्रैक्चर हो रहा है, आंखें फूंट रहीं हैं, बताइए हम किसके खिलाफ मानवाधिकार कोर्ट में जाएं।

डीजी दुर्गा प्रसाद ने पैलेट गन के इस्तेमाल को लेकर सफाई भी दी। उन्होंने कहा कि हम वही इस्तेमाल कर रहे हैं, जो हमें दिए गए हैं। मौसम, हालात और उपद्रवी भीड़ को नियंत्रित करने में ही इसका इस्तेमाल हो रहा है। कश्मीर में अगर कोई शिक्षक या छात्र शांति मार्च निकालता तो उस पर हम कार्रवाई करते तो सवाल उठता। मगर जब पत्थर या गोली चलाए तो दो रास्ते चलते हैं। एके 47 चलाएं या फिर पैलेट गन। हां जब कोई घायल होता है तो दुख हमें भी होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.