राशिफल

मेहनत करने पर भी नहीं मिलता है फल? तो वास्तु दोष का इस तरह से करें निवारण, करें ये उपाय

जीवन में कौन ऐसा है जो आगे बढ़ना नहीं चाहता, तरक्की नहीं करना चाहता है। सभी लोगों की ख्वाहिश होती है कि उन्हें जीवन में सबकुछ मिले और समाज में उनकी ख़ास इज्जत भी बनी रहे। इसके लिए वह अपनी तरफ से भरपूर कोशिश भी करते हैं। लेकिन कहा जाता है ना कि जिसकी किस्मत में जो लिखा होता है, वह होकर ही रहता है। आप कुछ भी कर लें अपने किस्मत को बदल नहीं सकते हैं।

किस्मत में होती है सफलता पर मिलती नहीं:

लेकिन कई बार सफलता किस्मत में होने के बाद भी नहीं मिलती है। व्यक्ति खूब मेहनत करता है लेकिन हर बार असफल हो जाता है। उसके साथ ही उसके परिवार को भी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। किस्मत में सफलता लिखे होने के बाद भी सफलता वास्तुदोष की वजह से नहीं मिलती है। व्यक्ति हर दिन वास्तु से जुडी छोटी-छोटी गलतियाँ कर बैठता है, जिसका परिणाम उसे बाद में भुगतना पड़ता है।

कई बार तो उसके द्वारा हर रोज की जाने वाली छोटी-छोटी वास्तु की गलतियाँ भविष्य में बहुत घातक परिणाम के रूप में सामने आती हैं। व्यक्ति समझ नहीं पाता है कि यह किस वजह से हो रहा है। वह अपनी किस्मत को दोष देकर शांत हो जाता है। जबकि वह जनता ही नहीं है कि यह किस्मत की वजह से नहीं बल्कि उसकी खुद की गलतियों की वजह से हो रहा है। इससे बचने के लिए घर में कुछ कामों को करते समय वास्तु के इन नियमों को ध्यान में रखना चाहिए।

इन कामों को करते समय ध्यान रखें वास्तु नियमों का:

*- वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में रखे दूध को कभी भी खुला नहीं छोड़ना चाहिए। अगर आपने तुरन्त ह दूध को गर्म किया है तो उसे किसी जालीदार बर्तन से ढँक दें। उसे पूरी तरह से खुला नहीं छोड़ना चाहिए। ऐसा करना अपने असफलता की वजह बन सालता है।

*- कुछ लोगों की आदत होती है कि वह सुबह-सुबह भगवान की पूजा करते हैं और उन्हें फूल अर्पित करते हैं, लेकिन उस फूल को रातभर के लिए वहीँ छोड़ देते हैं। इससे घर में नकारात्मक उर्जा फैलती है। इसलिए जब भी पूजा करने के बाद भगवान को फूल अर्पित करें, उसे शाम को ही हटा दें।

*- जब भी भोजन बनायें, घर के सदस्यों को परोसने से पहले गाय को जरुर खिलाएँ। ऐसा करने से परिवार के लोगों का स्वास्थ्य और धन की कमी नहीं होती है।

*- घर में रखी तिजोरी के पास और रसोईघर में भूलकर भी चप्पल-जूते पहनकर नहीं जाना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से घर का धन पानी की तरह बह जाता है। केवल यही नहीं ऐसा करने से व्यक्ति का सम्मान भी धीरे-धीरे कम होने लगता है।

Back to top button