दिलचस्प

बीवी नगर से लेकर साली स्टेशन, बकरा-दारू जंक्शन तक, बड़े मजेदार है इन 18 रेलवे स्टेशन के नाम

कहते हैं ‘नाम में क्या रखा है’। लेकिन कई बार कुछ नाम इतने अजीब होते हैं कि हम सिर पीट लेते हैं। अब भारत के इन अजीबो गरीब रेलवे स्टेशन को ही देख लीजिए। इनके नाम इतने अनोखे और अतरंगी है कि इन्हें पढ़कर आपकी हंसी कई मिनटों तक नहीं रुकेगी। इन्हें देख आपके मुंह से भी निकल पड़ेगा ‘ऐसा नाम कौन रखता है भाई?’

1. बीबीनगर रेलवे स्टेशन – Bibinagar Railway Station

बीबीनगर नाम का यह स्टेशन तेलंगाना के भुवानीनगर जिले में है। यह दक्षिण-मध्य रेलवे में विजयवाड़ा डिवीजन का स्टेशन है। इसका नाम बीवीनगर कैसे पड़ा किसी को नहीं पता। और हाँ इसका किसी की पत्नी से कोई संबंध नहीं है।

2. बाप रेलवे स्टेशन – Bap Railway Station

यह नाम सुनकर आपको जरूर हंसी आई होगी। ये भी लगा होगा कि ये स्टेशन सच में बाकी सभी स्टेशन का बाप होगा। लेकिन ऐसा नहीं है। यह एक बेहद छोटा सा स्टेशन है। यह राजस्थान के जोधपुर में स्थित है।

3. नाना रेलवे स्टेशन – Nana Railway Station

नाना नाम का यह स्टेशन राजस्थान में स्थित है। इसे देखने के लिए आपको सूबे के सिरोही पिंडवारा नामक जगह पर जाना होगा। वैसे बता दें कि इस स्टेशन का नाना पाटेकर या किसी के नाना से कोई लेना देना नहीं है।

4. साली रेलवे स्टेशन – Sali Railway Station

यह नाम सुनकर सभी जीजा लोगों के चेहरे पर मुस्कान आ गई होगी। यदि आप अपनी साली साहिबा के साथ इस स्टेशन के दर्शन करना चाहते हैं तो आपको राजस्थान के जोधपुर जिले के डूडू नामक स्थान पर जाना होगा। ये स्टेशन उत्तरी-पश्चिमी रेलवे से कनेक्टेड है।

5. ओढ़निया चाचा रेलवे स्टेशन – Odhaniya Chacha Railway Station

वैसे तो चाचा कभी ओढ़नी नहीं पहनते, लेकिन इस स्टेशन का नाम रखने वाले को अजीब मस्ती सूझी होगी। यह स्टेशन उत्तर-पश्चिम रेलवे के जोधपुर डिवीजन में स्थित है। यह पोखकर के बेहद के पास बना है।

6. सहेली रेलवे स्टेशन – Saheli Railway Station

आप अपनी सहेली संग एक बार इस स्टेशन पर जरूर जाइएगा। घर पर बोलना ‘मैं अपने सहेली के साथ सहेली स्टेशन पर जा रही हूँ।’ ये स्टेशन मध्य प्रदेश के भोपाल और इटारसी के पास में मौजूद है। यह मध्य रेलवे के नागपुर डिवीजन में पड़ता है।

7. काला बकरा रेलवे स्टेशन – Kala Bakra Railway Station

बकरा प्रजाति को यह जानकर खुशी होगी कि उनके नाम पर भी एक रेलवे स्टेशन मौजूद है। इसे देखने के लिए आपको जालंधर के एक गांव में जाना होगा। यह स्टेशन फिरोजपुर डिवीजन में आता है।

8. सूअर रेलवे स्टेशन – Suar Railway Station

यह नाम सुनकर तो जरूर आपके चेहरे पर मुस्कान आई होगी। वैसे इस स्टेशन पर सूअर नहीं बल्कि इंसान ट्रेन पकड़ते हैं। यह स्टेशन उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में एक गांव में आता है। इसके पास रामपुर, मुरादाबाद और अमरोहा जैसे बड़े स्टेशन पड़ते हैं।

9. भैंसा रेलवे स्टेशन – Bhainsa Railway Station

यह एक छोटा सा स्टेशन है। इसका नाम तेलंगाना के निर्मल जिले में स्थित भैंसा शहर पर पड़ा है। इस शहर में करीब पचास हजार लोग रहते हैं। यहां से ज्यादा ट्रेनें भी नहीं जाती है।

10. बिल्ली जंक्शन – Billi Junction

यह महज एक बोर्डिंग स्टेशन है। यह उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में पड़ता है। इसका नाम सुनकर ऐसा लगता है मानो इस स्टेशन पर सैकड़ों बिल्लियां रहती हैं। अब ये सच है या नहीं ये आप वहां जाकर पता कर लीजिए।

11. कुत्ता रेलवे स्टेशन – Kutta Railway Station

सूअर, बकरा, भैंसा और बिल्ली के बाद कुत्ते के नाम पर भी एक रेलवे स्टेशन बनता ही था। यह स्टेशन कुट्टा कर्नाटक राज्य का एक छोटा सा गांव है। यह कूर्ग क्षेत्र के किनारे पर मौजूद है। यहां की प्राकृतिक सुंदरता और वन्य जीवन देखने लायक हैं।

12. भागा रेलवे स्टेशन – Bhaga Railway Station

अब ऐसा नहीं है कि यहां की सभी ट्रेनें आपको भागकर ही पकड़नी होगी। बस ये एक नाम ही है भाई। इस रेलवे स्टेशन को आप झारखंड के धनबाद जिले के सिंदरी रोड पर देख सकते हैं।

13. सिंगापुर रोड रेलवे स्टेशन – Singapur road Railway Station

कम पैसों में सिंगापुर जाना चाहते हैं तो इस स्टेशन पर पहुंच जाइए। यहां के लिए आपको वीजा भी नहीं लगेगा। यह स्टेशन aapko ओडिशा में देखने को मिलेगा। यहां से कई एक्सप्रेस ट्रेन गुजरती हैं।

14. दारू रेलवे स्टेशन – Daru Railway Station

जीतने भी बेवड़े लोग हैं उनके लिए ये स्टेशन जन्नत से कम नहीं है। यहां आकर आपको असली फ़ील आएगा। यह  झारखंड के हजारीबाग जिले का एक गांव है। इसी पर स्टेशन का नाम रखा है।

15. दिवाना रेलवे स्टेशन – Diwana Railway Station

‘कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है’ कुमार विश्वास का यह गीत आप इस स्टेशन पर आकर जरूर सुनना। यह हरियाणा में पानीपत के नजदीक स्थित है। यहां दो प्लेटफार्म है जिन पर रोज 16 ट्रेनें आकर ठहरती हैं।

16. भोसरी रेलवे स्टेशन – Bhosari Railway Station

यह स्टेशन का नाम किसी को बोल मत देना। उसे लगेगा आप गाली दे रहे हैं। यह नाम भोसरी गांव से प्रेरित है। इस गांव का नाम पहले भोजपुर हुआ करता था। यह गांव अपनी कला के लिए जाना जाता है। यहां 2000 साल पुराना “कलाकार महल” भी है। यह नासिक फाटा पर स्थित है।

17. टट्टी खाना रेलवे स्टेशन – Tatti Khana Railway Station

उम्मीद करते हैं कि इस स्टेशन का नाम सुनकर आप कुछ खा नहीं रहे हैं। यह टट्टी खाना तेलंगाना के रंगारेड्डी जिले का एक गांव है। यहां आकर यदि आपका पेट गड़बड़ हो जाए तो टॉइलेट जाना और सबको बताना ‘टट्टी खाना में टट्टी कर रहा हूं।’

18. पनौती रेलवे स्टेशन – Panuti Railway Station

यह स्टेशन यूपी के चित्रकूट जिले में स्थित पनौती गांव में है। इसमें करीब 2,197 लोग रहते हैं। यहां रहने वालों का अक्सर पनौती कहकर मजाक उड़ाया जाता है।

वैसे इसमें आपका फेवरेट स्टेशन कौन सा है?

Back to top button
?>