समाचार

शादी में चक्कर खाकर गिरा दूल्हा, फाड़ने लगा अपने कपड़े, दुल्हन ने तोड़ी शादी, कहा-ये तो बीमार है..

कहते हैं शादी सात जन्मों का रिश्ता होता है। दूल्हा-दुल्हन अग्नि को साक्षी मानकर एक दूसरे के सुख-दुख में साथ देने की कसमें खाते हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश के झांसी में एक दुल्हन ने फेरों के चंद घंटों बाद ही दूल्हे का साथ छोड़ दिया। दूल्हा विदाई के दौरान चक्कर खाकर गिर गया। इससे दुल्हन को उसके बीमार होने का शक हुआ और उसने शादी तोड़ने की बात कही। इसके बाद शादी में जमकर हंगामा हुआ। बात पुलिस तक भी जा पहुंची।

विदाई में चक्कर खाकर गिरा दूल्हा

दुल्हन आरती झांसी के शहर कोतवाली के अलीगोल खिड़की की रहने वाली है। उसकी रिश्ता झांसी के ही प्रेमनगर क्षेत्र के रहने बाले राजकुमार से तय हुआ था। दोनों की सगाई करीब एक महीने पहले हो गई थी। 11 मार्च को शादी थी। तय तारीख पर दूल्हा बारात लेकर आ गया। शादी की सभी रस्में धूमधाम से हुई। जयमाला से लेकर फेरों तक सबकुछ शांति से निपट गया।

मामला विदाई के दौरान बिगड़ा। पहले दुल्हन ससुराल जाने के लिए कार में बैठ गई। फिर दूल्हा भी कार की ओर जाने लगा। लेकिन उसे अचानक से चक्कर आए और वह जमीन पर गिर गया। उसका शरीर अकड़ने लगा। वह अपने कपड़े फाड़ने लगा। फिर परिजनों ने उसे चप्पल सूंघाई। इससे कुछ देर बाद उसकी हालत सामान्य हुई।

दुल्हन ने ससुराल जाने से किया इनकार

दूल्हे की यह हालत देख दुल्हन ने ससुराल जाने से इनकार कर दिया। उसके घरवालों ने भी इसमें साथ दिया। लेकिन बाराती इस बात से भड़क गए। उन्होंने जमकर हंगामा किया। उन्होंने दुल्हन को कार से बाहर नहीं निकलने दिया। इस पर दुल्हन पक्ष के लोग कार के सामने खड़े हो गए। उन्होंने कार को आगे नहीं बढ़ने दिया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए वर पक्ष शहर कोतवाली पुलिस के पास न्याय की गुहार लगाने चले गए। उनके पीछे वधू पक्ष के लोग भी शिकायत लेकर पहुंच गए। दुल्हन के भाई दीपक का कहना है कि दूल्हे को मिर्गी की बीमारी है। वर पक्ष ने इसकी जानकारी पहले से नहीं दी थी। हम अपनी बहन की शादी बीमार दूल्हे से नहीं करना चाहते हैं।

वर पक्ष ने लगाई न्याय की गुहार

दूसरी ओर दूल्हा पक्ष का कहना है कि शादी की रस्मों की वजह से लड़का तीन-चार दिनों से जाग रहा था। उसकी नींद पूरी नहीं हुई। इसलिए चक्कर आ गए। उसे मिर्गी नहीं है। हमने पुलिस में शिकायत की है। हमे उम्मीद है कि पुलिस हमे न्याय दिलाएगी।

उधर सोशल मीडिया पर ये मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। कोई बोला कि दूल्हे ने मिर्गी वाली बात छिपाकर सही नहीं किया। वहीं किसी ने कहा कि यदि दूल्हे को शादी के बाद कोई बीमारी हो जाती तब भी दुल्हन उसे छोड़ देती? एक ने ये भी कहा यदि कोई दूल्हा किसी बीमार दुल्हन से शादी तोड़ देता तो उसकी बहुत आलोचना होती है।

वैसे आपको क्या लगता है दुल्हन ने दूल्हे से शादी तोड़ सही किया या गलत?

Back to top button
?>