विशेष

दूध-जल नहीं यहां हल्दी से होता है मां भद्रकाली का अभिषेक, अपने आप बंद हो जाती है देवी की आंखें

Video : यहां साक्षात होता है माता काली का चमत्कार, स्नान के दौरान आंखे बंद कर लेती है देवी

भारत आस्था और मंदिरों का देश है. यहां भांति-भांति के धर्म के लोग रहते हैं हालांकि भारत सनातन धर्म के लिए पहचाना जाता है. सनातन धर्म, भारतीय संस्कृति और यहां की परंपरा पूरी दुनिया में चर्चित है. भारत को चमत्कारों का देश भी कहा जाता है.

साक्षात तीनों लोकों के स्वामी भगवान शिव भारत में निवास करते हैं. मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम और भगवान श्री कृष्ण की यह धरती है. कई महात्मा, साधु-संतों ने इस धरा पर जन्म लिया. भारत में अनेकों ऐतिहासिक मंदिर भी है. भारत भूमि पर हजारों साल पुराने मंदिर भी बने हुए है.

bharat bhumi

भारत और सनातन धर्म का इतिहास दुनिया में सबसे पहला और पुराना है. भारत में अनगिनत सैकड़ों और हजारों वर्ष पुराने मंदिर है. कई मंदिर में साक्षात चमत्कार होता है. जिसके आगे विज्ञान भी फेल रहा है. आज हम आपको भारत एक एक ऐसे मंदिर के बारे में बता रहे हैं जहां अभिषेक के दौरान माता काली स्वयं अपने नेत्र बंद कर लेती है. आइए जानते है कि यह मंदिर कहां है और इसका इतिहास क्या है.

ma kalka

हम आपसे जिस मंदिर की बात कर रहे है वो मंदिर माता भद्रकाली को समर्पित है. मंदिर तेलंगाना का बताया जा रहा है. सोशल मीडिया पर इस मंदिर से जुड़ा एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे माता का अभिषेक किया जा रहा है. ख़ास बात यह है कि देवी को हल्दी से स्नान करवाया जाता है और स्नान के दौरान मां स्वयं अपनी आंखें बंद कर लेती है.


वीडियो को ट्विटर पर एक यूजर ने साझा किया है. इसमें आप देख सकते है कि हल्दी से माता का स्नान हो रहा है. वीडियो को साझा
करते हुए एक यूजर ने ट्वीट में लिखा है कि, ”तेलंगाना में मां भद्रकाली का अभिषेक हल्दी से किया जाता है. उस समय माता रानी हल्दी गिरते ही अपनी आंखें बंद कर लेती हैं”.

ma kalka

सोशल मीडिया पर यह वीडियो काफी वायरल हो रहा है और इसे खूब पसंद किया जा रहा है. क्योंकि वीडियो के साथ लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. यह तेलंगना स्थित मां भद्रकाली धाम का चमत्कार है. पंडित माता की मूर्ति को हल्दी से नहलाते हैं और जब हल्दी मस्तक से नीचे आते ही मां अपनी आंखें बंद कर लेती है.

वीडियो देखने के बाद लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल पैदा हो रहे हैं. लोगों को हैरानी हो रही है कि भला ऐसा कैसे हो सकता है. कोईइ कह रहा है कि इस मूर्ति का निर्माण ऐसे हुआ है कि जैसे ही हल्दी इस पर डलती है देवी के नेत्र बंद हो जाती है. तो कोई इसे माता का चमत्कार मान रहा है.

Back to top button
?>