समाचार

बुजुर्ग महिला के अंतिम संस्कार में पूरे परिवार ने हंसते हुए खिंचवाई फोटो, नजारा देख भड़के लोग

जब भी घर में किसी सदस्य का निधन होता है तो दुख का माहौल रहता है। हर किसी के चेहरे पर उदासी दिखाई देती है। लेकिन केरल में एक परिवार ने घर के सदस्य की मौत पर एक अनोखी तस्वीर क्लिक करवा ली। उन्होंने घर की बुजुर्ग महिला के शव के साथ मुस्कुराते हुए एक फोटो क्लिक की। अब यह फोटो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है।

घर में हुई मौत, परिवार ने हंसते हुए खिंचवाई तस्वीर

यह अनोखा मामला पठानथिट्टा जिले के मालापल्ली गांव का है। यहां 95 साल की मरियम्मा का 17 अगस्त को निधन हो गया। वह बीते एक साल से बिस्तर पर बीमार पड़ी थी। बीते कुछ हफ्तों से उनकी हालत काफी नाजुक हो गई थी। मरियम्मा के 9 बच्चे और 19 पोते पोतियां हैं। हाल ही में परिवार ने उनका अंतिम संस्कार किया। लेकिन इस दौरान मृतका के साथ परिवार के करीब 40 लोगों ने हंसते हुए एक तस्वीर खिंचवाई।

अब इस तस्वीर को लेकर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई है। लोगों को समझ नहीं आ रहा कि आखिर ये कैसा परिवार है जो किसी की मौत पर इतना मुस्कुरा रहा है। जब सोशल मीडिया पर आलोचनाओं का दौर बड़ा तो मृतका के बेटे और चर्च के पादरी डॉ. जॉर्ज ओमेन ने अपना पक्ष रखा। उन्होंने बताया कि उनकी फैमिली को लोगों की नेगेटिव बातों से कोई खास फर्क नहीं पड़ता है।

इस कारण शव के साथ मुस्कुरा रहा था परिवार

वे कहते हैं मरियम्मा एक खुशमिजाज महिला थी। वह अपनी अंतिम सांस तक खुश रही। उसने सभी बच्चों और पोते-पोतियों को बेहद प्यार दिया। हंसी खुशी पाला। इसलिए परिवार इन पलों को संजोना चाहता था। तो उन्होंने एक पारिवारिक फोटो क्लिक करवा ली। अब जिन लोगों को ये फोटो अच्छी नहीं लगी उन्होंने शायद मौत के बाद सिर्फ आंसू और विलाप ही देखा है। लेकिन हमने विलाप की जगह मरियम्मा को खुशी-खुशी विदा किया।

शिक्षा मंत्री ने किया सपोर्ट

इस पूरे मामले पर केरल के शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी का भी रिएक्शन आया है। उन्होंने अपने फ़ेसबुक अकाउंट पर इस तस्वीर को साझा करते हुए लिखा – बेशक मौत दर्दनाक होती है। हालांकि यह एक विदाई भी है। जो लोग अक्सर खुश रहते हैं उन्हें खुशी-खुशी विदा करने से अच्छी चीज क्या हो सकती है? इस तस्वीर पर नेगेटिव कमेंट्स की आवश्यकता नहीं है।


उधर शिक्षा मंत्री की इस पोस्ट पर लोग दो हिस्सों में बट गए हैं। कुछ शिक्षा मंत्री की बातों और तस्वीर का सपोर्ट कर रहे हैं। तो वहीं कुछ को अभी भी किसी की मौत पर मुस्कुराने वाली बात हजम नहीं हो रही है। वैसे इस पूरे मामले पर आपकी क्या राय है?

Back to top button
?>