विशेष

16 साल की लड़की हुयी गायब,6 महीने बाद उस के दोस्त ने खोला काला चिट्टा तो उड़ गए पुलिसवालों के होश

स्काइलायर नेसे, शेलिया एड़ी और राहेल शॉफ़ ये तीनों वेस्ट वर्जीनिया में रहती थी और एक साथ हाई स्कूल की पढ़ाई कर रही थी। इनकी दोस्ती के चर्चे काफी पूरे शहर में होते रहते थे। ये जहां घुमने जाती वहां कि तस्वीरें ट्विटर और फेसबुक पर पोस्ट करती थी। फिर अचानक एक दिन शेलिया एड़ी और राहेल शॉफ़ के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। धीरे-धीरे कुछ अन्य कारणों से इन दोनों कि लड़ाई खतरनाक होती चली गई। Teen Goes Missing Friends Reveal Dark Secret.

फिर एक दिन गायब हो गई स्काइलायर

6 जुलाई 2012 को स्काइलायर अचानक गायब हो गई। उसकी खोज महीनों तक चलती रही, लेकिन कहीं भी उसका पता नहीं चला। 6 महीने बाद राहेल शॉफ़ ने स्काइलार के गायब होने के पीछे कि जो कहानी बताई उससे लोगो के होश उड़ गए।  16 वर्षीय स्काइलायर डेव और मैरी नेसे की अकेली लड़की थी।  उसके माता-पिता के अनुसार, उनकी बेटी काफी “शर्मीली” थी, जो हमेशा अपने दोस्तों कि खुशी को जवज्जो देती थी।

स्काइलायर नेज और शेलिया एड़ी 8 साल की उम्र से ही अच्छे दोस्त थे। डेव के मुताबिक, शेलिया उनके परिवार के एक सदस्य की तरह थी। स्काइलायर कहीं पर पार्ट टाइम जॉब करती थी वो 5 जुलाई 2012 को घर से ऑफिस के लिए निकली लेकिन, अगली सुबह तक वो वापस नहीं लौटी। उसके पिता ने बाद में देखा कि उसकी खिड़की के शीशे हटे हुए थे जिससे वह समझ गए कि स्काइलार रात भर घर पर नहीं थी।

माता-पिता ने पुलिस में दर्ज कराई रिपोर्ट  

उसके बाद स्काइलायर के माता-पिता ने तुरंत 911 उसके लापता होने की रिपोर्ट की। वेस्ट वर्जीनिया पुलिस डिपार्टमेंट के पुलिस अधिकारी बॉब मैकॉउली ने उसको खोजने के लिए शहर के कई ठिकानों पर जांच शुरू की। जिसके बाद शेलिया एड़ी ने डेव और मैरी को फोन किया और बताया कि पिछली रात क्या हुआ था।

शेलिया ने उन्हें बताया कि, राहेल और स्काइलायर पिछली रात बाहर गए थे और स्टार सिटी में उन्होंने पूरी रात घुमते हुए बिताई। उन्होंने इस दौरान ड्रिंक भी किया और सुबह स्काइलायर को उसके घर के बाहर छोड़ा। लेकिन मैरी के मुताबिक, दोनों लड़कियों ने स्काइलायर को घर के बाहर रोड़ पर छोड़ा था, क्योंकि वे स्कायलार के माता-पिता को जागना चाहती थीं।

स्काइलायर की मौत का हुआ शक

सर्विलांस फुटेज से पता चलता है कि 12:30 बजे एक कार स्काइलायर के अपार्टमेंट के सामने रुकी थी। फुटेज में कुछ मिनट बाद, स्काइलायर को उसकी खिड़की से बाहर निकलते हुए देखा गया। डेव के अनुसार, यह पहली बार था जब स्काइलायर पूरी रात घर नहीं लौटी थी। उन्हें डर था कि उसकी “मौत” हो गई है।

जांच से पता चला कि ये लड़कियां यू.एस. रूट 19 से शहर के उत्तर की तरफ गई। उनका प्लान वहां से यू.एस. रूट 7 पर जाना था लेकिन लाउंज पार्क के पास पुलिस की कार को देखने के बाद वो ब्लैकस्विले की ओर मुड़ गई। स्काइलायर के लापता होने की खबरें पहले ही टीवी, रेडियो और इंटरनेट के माध्यम से शहर में फैल रही थीं। लेकिन हफ्तों के बाद भी स्काइलार अभी भी लापता थी।

खुला होश उड़ाने वाला राज

शेलिया एड़ी और राहेल की कहानी पर पुलिस को शक हुआ। इसलिए, पुलिस ने उनके फोन रिकॉर्ड किये तो ये बात साफ हुई कि दोनों लड़कियां झूठ बोल रही हैं। 28 दिसंबर 2012 को, राहेल को मानसिक दिक्कत के कारण स्थानीय मानसिक चिकित्सालय अस्पताल में भेजा गया था। इस दौरान वह अब शेलिया के संपर्क नहीं थी। 3 जनवरी, 2013 को डिस्चार्ज किए जाने के बाद राहेल ने पुलिस और उसके अटॉर्नी के सामने कबूल किया कि उसने और शेलिया ने स्काइलायर को मार दिया है। राहेल के बयान ने पुलिस के होश उड़ा दिये।

जांच में स्काइलायर की हत्या की रात को जो कुछ हुआ वो वाकई चौकाने वाला था। शेलिया और राहेल ने स्काइलायर को मारने के लिए उस स्थान को चुना जहां वो अक्सर सिगरेट पीती थी। स्काइलायर की हत्या का प्लान  दोनों ने महीनों पहले बना लिया था। उस रात शेलिया और राहेल ने अपने कपड़े के नीचे एक चाकू छुपा रखा था और स्काइलायर को मारने के बाद उन्होंने शेलिया की कार और कपड़ों को अच्छी तरह से साफ कर दिया।

1 मई 2013 को जांच के महीनों के बाद राहेल ने मंगोलिया काउंटी सर्किट कोर्ट में अपना गुनाह कबूल किया। जब पूछा गया कि उन्होंने स्काइलायर को क्यों मारा, तो राहेल का जवाब था, “हम उसे पसंद नहीं करते थे।” राहेल को आपराधिक न्यायालय में स्थानांतरित कर दिया गया और सुनवाई के बाद उसपर वयस्क के रूप में आरोप लगाया गया। उसे हत्या का दोषी ठहराया गया और उसे पश्चिमी वर्जीनिया के व्हीलिंग के उत्तरी क्षेत्रीय युवा बचाव केंद्र में ले जाया गया था, जहां उसे 30 साल की जेल की सजा हुई।

1 मई 2013 को शेलिया एड़ी को भी एक रेस्तरां की पार्किंग से गिरफ्तार किया गया। बाद में उसपर वयस्क के रूप में आरोप लगाया गया और हत्या का दोषी ठहराया गया। उसे 15 साल की सजा सुनाई गई।

Related Articles

Close