राजनीति

ये मशहूर नेता होगा पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री! जानें भारत के लिए कैसी होगी नई सरकार

पाकिस्तान में राजनीतिक उथल पुथल अपने चरम पर पहुंच चुकी है। मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान पर चारों तरफ से कुर्सी छोड़ने का दबाव है। वहीं सेना ने भी उनका साथ छोड़ दिया है और उनके करीबी देश छोड़कर भाग निकले हैं। ऐसे में इमरान खान का पद जाना करीब करीब तय माना जा रहा है।

अगर इमरान खान खुद पद से नहीं हटते हैं तो उनके खिलाफ 28 मार्च को अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा। इमरान को बहुमत की अग्नि परीक्षा पास करनी होगी जो उनके पास नहीं है। इमरान के जाने के बाद अगली सरकार कैसी होगी और कौन पड़ोसी मुल्क का नया प्रधानमंत्री होगा, चलिए हम आपको इसकी जानकारी देते हैं।

ये नेता हो सकता है अगला पीएम

इमरान खान की विदाई के बाद जिस नेता का नाम सबसे ऊपर चल रहा है वो शहबाज शरीफ हैं। शहबाज शरीफ को ही पाकिस्तान का अगला प्रधानमंत्री कहा जा रहा है। वो पाक की राजनीति के मंझे हुए नेता हैं और देश को संकट से निकालने के लिए उनके ऊपर भरोसा किया जा सकता है।

शहबाज शरीफ पूर्व पाक पीएम नवाज शरीफ के भाई हैं। वो इस समय पीएमएल(नवाज) को संभाल रहे हैं और पार्टी के अध्यक्ष हैं। इसी वजह से उनको अगला पीएम घोषित किया जा सकता है। नवाज शरीफ की बेटी खुद पार्टी की उपाध्यक्ष हैं और वो अपने चाचा के नाम को पीएम पद के लिए आगे कर सकती हैं।

गृहमंत्री और विदेश मंत्री भी लगभग तय

शहबाज शरीफ का नाम तो पीएम के रूप में तय माना जा रहा है। वहीं सरकार में अन्य महत्वपूर्ण मंत्रालयों को कौन संभालेगा, इसकी भी चर्चा होने लगी है। खबर है कि मरियम नवाज खुद गृहमंत्री के रूप में पाकिस्तान सरकार को संभालेंगी। जबकि उनका साथ दे रहे बिलावल भुट्टो विदेश मंत्री बनाए जा सकते हैं।

वहीं दूसरी ओर राष्ट्रपति के लिए आसिफ अली जरदारी का नाम भेजा जा सकता है। वो पाकिस्तान के पीएम रह चुके हैं। दूसरी ओर इमरान खान ने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा है कि ये विदेशी साजिश है जिसके तहत उनको हटाने की कोशिश की जा रही है। उनके खिलाफ 28 मार्च को अविश्वास प्रस्ताव लाया जा सकता है।

जानें भारत के लिए कैसी होगी सरकार

इमरान खान का साथ सेना ने भी छोड़ दिया है। पाक आर्मी हमेशा से अमेरिका के करीब रही है लेकिन इमरान खान की वजह से पाकिस्तान अमेरिका का दुश्मन बन गया है। पाक आर्मी नहीं चाहती है कि उसकी अमेरिका से करीबी कम हो, इसी वजह से सेना ने भी इमरान खान से पद छोड़ने के लिए कह दिया है। इमरान खान ने सेना को मनाना चाहा लेकिन वो सफल नहीं हो सके।

वहीं दूसरी ओर भारत की बात की जाए तो नई सरकार भारत के लिए कैसी होगी, इस बारे में अभी कहा नहीं जा सकता है। हालांकि नवाज शरीफ की पार्टी को हमेशा से ही भारत के साथ संबंध सुधारकर चलने वाला माना जाता है। ऐसे में उम्मीद है कि नई सरकार इंडिया से बिगड़े संबंध सुधारना चाहेगी ताकि उनको पड़ोसी मुल्क से कुछ फायदा हो सके।

Back to top button