समाचार

जलता बंगाल: एक दर्जन घरों के दरवाजे बंद कर आग लगाई, अबतक 8 मौत, TMC पर हिंसा का आरोप

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर जारी है। सोमवार रात इस हिंसा ने इतना भयंकर रूप धारण कर लिया की पूरे इलाके में दहशत छाई हुई है। राजनीतिक हिंसा के खिलाफ बीजेपी ने निर्वाचन आयोग से शिकायत करने का निर्णय लिया है।

वीरभूमि जिले में भड़की हिंसा

पश्चिम बंगाल के बीरभूम में टीएमसी नेता की हत्या के बाद सोमवार देर रात हिंसा भड़क गई। हत्या से नाराज लोगों की भीड़ ने 10-12 घरों के दरवाजे को बाहर से बंद कर आग लगा दी। आग लगने के बाद जब लोगो चिल्लाने लगे तो बाहर खड़ी ये भीड़ तमाशा देखती रही। लोगों ने झुलस कर चिल्ला-चिल्लाकर दम तोड़ दिया लेकिन भीड़ का दिल नहीं पसीजा। सिर्फ एक ही घर से 7 लोगों के शव निकाले गए हैं। इस हिंसा में अब तक कुल 8 लोगों की मौत हो गई है कई लोग अब भी जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं।

TMC नेता भादू शेख की हत्या का बदला

जानकारी के मुताबिक बंगाल के बीरभूम जिले के रामपुरहाट में टीएमसी के उपप्रधान की हत्या का बदला लेने के लिए इस घटना को अंजाम दिया गया है। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही डीएम समेत बीरभूम के तमाम बड़े अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।  इन सब के बीच बीरभूम के दमकल अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि घटना कल रात की है,10-12 घरों में आग लगाई गई है।

बंगाल के बीरभूम के रामपुरहाट में सोमवार देर रात बम फेंककर पंचायत नेता भादू शेख की हत्या कर दी गई थी। जानकारी के अनुसार शेख स्टेट हाईवे 50 पर जा रहे थे। तभी अज्ञात लोगों ने उनपर बम फेंक दिया जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद उन्हें रामपुरहाट के मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

हिंसा के बाद दहशत

जानकारी के अनुसार हत्याओं के बाद क्षेत्र के किसी भी घर में एक भी पुरुष सदस्य नहीं बचा है। यह हाल के दिनों में पश्चिम बंगाल में हुई सबसे बड़ी राजनीतिक हिंसा में से एक है।


चुनाव नतीजों के बाद भी हिंसा का दौर जारी

यह पहली बार नहीं है जब पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा की घटना हो रही है। पिछले साल चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद हुई हिंसा में कम से कम 16 लोगों की जान ले ली थी।  चुनाव से पहले भी हिंसा का दौरा जारी था, चुनाव के बाद भी हिंसा का दौर जारी है।

हिंसा को लेकर बंगाल बीजेपी चिंतित

शिशिर बाजोरिया के नेतृत्व में पश्चिम बंगाल भाजपा आगामी उपचुनावों और राज्य में जारी हिंसा के मुद्दे पर राज्य के मुख्य चुनाव आयुक्त से मुलाकात करेगी और अपना विरोध जताएगी। बीजेपी का आरोप है कि ममता सरकार में बीजेपी नेताओं, कार्यकर्ताओं और बीजेपी के समर्थक लोगों को चुन-चुन कर निशाना बनाया जा रहा है। प्रदेश के राज्यपाल ने भी इस मुद्दे पर ममता सरकार को घेरा था।

Back to top button