ब्रेकिंग न्यूज़

नया बवाल: कांग्रेसी मंत्री के 39 ठिकानों पर IT की रेड, रिसॉर्ट में छिपे मिले गुजरात के 42 MLA

बेंगलुरु – कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के 39 ठिकानों पर बुधवार को आयकर विभाग ने छापे मारे। इसमें मंत्री के बेंगलुरु में स्थित ईगल्टन गॉल्फ रिसॉर्ट भी शामिल है। रिसॉर्ट में यह छापा उस वक्त पड़ा है जब गुजरात कांग्रेस के 39 विधायक यहां रह रहे हैं। हालांकि, पीटीआई ने ट्वीट के जरिए कहा है कि, आयकर विभाग के अधिकारी रिसॉर्ट पर मौजूद हैं लेकिन अभी कोई सर्च ऑपरेशन नहीं चलाया जा रहा है। मंत्री के दिल्ली स्थित घर से 5 करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। Income tax raid against Karnataka minister.

 क्या है IT की रेड का मामला

दरअसल, आयकर विभाग ने बुधवार को कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार के कर्नाटक और दिल्ली स्थित कई ठिकानों पर छापे मारे। जिसमें बेंगलुरु में स्थित ईगल्टन गॉल्फ रिसॉर्ट भी शामिल है। बताया जा रहा है कि इस रिजॉर्ट में गुजरात के 44 कांग्रेस विधायक छिपे हुए थे। आपको बता दें कि पिछले दिनों गुजरात के 57 में से 6 कांग्रेसी विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और इनमें से 3 ने बीजेपी ज्वाइन कर ली।

इसके बाद शिवकुमार को गुजरात कांग्रेस के बाकी विधायकों को रिसॉर्ट में ठहराने की जिम्मेदारी दी गई थी। इसकी वजह ये है कि कांग्रेस में इस बात को लेकर डर है कि आगामी राज्य सभा चुनाव और इस साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी उनके विधायकों को तोड़ सकती है। इसलिए वो अपने विधायकों को छिपा रही है।

लोकसभा और राज्यसभा में मचा हुआ है बवाल

शिवकुमार के ठिकानों पर इनकम टैक्स के छापे को लेकर बुधवार को लोकसभा और राज्यसभा में जमकर बवाल मचा हुआ है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने ये छापे राजनीतिक दुश्मनी के चलते डलवायें हैं। वहीं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि यह कार्रवाई कांग्रेस के विधायकों को डराने-धमकाने के लिए की गई है। खड़गे ने ये भी कहा है कि भाजपा केवल एक राज्यसभा कैंडिडेट को हराने के लिए ये सब कर रही है।

राज्यसभा में सदन की कार्यवाही शुरू होते ही वरिष्ठ कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा ने यह मामला उठाया। उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वो आईटी, सीबीआई और ईडी जैसी केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष को डराने के लिए कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने आईटी के छापे की टाइमिंग और जगह पर भी सवाल उठाए हैं। शर्मा के मुताबिक, ये सारे छापे रिसॉर्ट को टारगेट करने का तरीका है।

Related Articles

Close