समाचार

गूगल की मदद से ‘गुरु’ बना 9 साल का बच्चा, फ्री में कर लिया 2700 किलोमीटर का हवाई सफर, जानें कैसे?

कम्प्यूटर, इंटरनेट और इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के इस युग में बच्चे भी ‘गुरु’ बन गए हैं। ऐसे ही एक 9 साल के बच्चे के दिमाग में मुफ्त में विमान यात्रा का जुनून चढ़ गया और उसने गूगल सर्च में जाकर इस बारे में पता लगाना शुरू किया। उसे एक के बाद एक क्लू मिलते गए और उसका फ्री हवाई सफर का सपना पूरा हो गया और उसने 2700 किलोमीटर की हवाई सफर मुफ्त में कर लिया। क्या है पूरा मामला आपको आगे बताते हैं।

इंटरनेट जानकारी का समंदर है. एक क्लिक में किसी भी विषय पर असंख्य आर्टिकल, वीडियो, रिसर्च जनर्ल सबकुछ मिल जाता है। हालांकि ये जानकारी कई बार मुसीबत का कारण भी बन सकती है। कुछ ऐसा ही ब्राज़ील के 9 साल के बच्चे के साथ हुआ।

गूगल पर ऐसे किया सर्च

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्राज़ील के 9 साल के लड़के ने गूगल पर ‘हवाई जहाज़ में बिना किसी को पता चले कैसे करें सफ़र’ सर्च किया और घर से 2700 किलोमीटर दूर तक का ट्रैवल कर लिया। रिपोर्ट्स के अनुसार, 9 साल का ये बच्चा ब्राजील के मनौस  स्थित अपने घर से भाग गया। वह Latam Airlines की फ़्लाइट में बैठा और गुआरुलहोस, ग्रेटर साओ पाउलो  पहुंच गया।

सिक्योरिटी को भी दिया चकमा

ये बच्चा न सिर्फ़ आम जनता के बल्कि सिक्योरिटी की भी नज़रों से आराम से निकल गया। फ़्लाइट इन ट्रांज़िट में था तब क्रू के सदस्यों ने देखा कि इस बच्चे के साथ कोई वयस्क नहीं है। क्रू के सदस्यों ने फ़ेडरल पुलिस और गार्जनशिप काउंसिल को सूचित किया। गार्जनशिप काउंसिल ने बच्चे के बारे में जानकारियां जुटाने की कोशिश की।

बच्चे की पहचान का पता चल गया। उसका नाम इमानुएल मार्क्स डे ओलिवेरा है। इमानुएल के परिवार ने 26 फरवरी को उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई थी। रात के तकरीबन 10 बजे उसकी मां के पास फ़ोन आया और इमानुएल की उसे खोज-खबर मिली। बच्चे को रातभर गार्जनशिप काउंसिल के शेल्टर में रखा गया और अगले दिन फ़्लाइट से वो घर पहुंचा।

Back to top button
?>