विशेष

मां ने अपने जेवर गिरवी रख बेटे को दिलाया बैट। बेटे ने रणजी मैच में तिहरा शतक लगा बढ़ाया मान

साकिबुल गनी (Sakibul Gani) क्रिकेट की दुनिया के नए स्टार बनकर सामने आएं हैं और अपना नाम इतिहास में दर्ज करवाया। जी हां बिहार के युवा बल्‍लेबाज साकिबुल गनी ने रणजी ट्रॉफी के अपने डेब्‍यू मैच में वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बना दिया और मिजोरम के खिलाफ 22 साल के इस बल्‍लेबाज ने तिहरा शतक जमाया और ऐसा कारनामा करने वाले पहले क्रिकेटर बने। लेकिन बता दें कि उनके यहां तक पहुंचने की कहानी बेहद ही संघर्षों के बीच से गुजरी है।

क्रिकेट के अच्छे बैट लगभग 30 से 35 हजार रुपए के आते हैं। ऐसे में गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले गनी के पास इतने पैसे नहीं थे कि वे बैट खरीद सकें। फिर भी कहते हैं न कि मां तो मां ही होती है और उसने अपने गहने गिरवी रखकर बेटे के सपने को पूरा करने की ठानी। जिसके बाद अब परिणाम सभी के सामने हैं और एक बिहारी सब पर भारी वाली किवदंती सच साबित हो रही है।

Sakibul Gani

बता दें कि गनी फर्स्ट क्लास क्रिकेट के डेब्यू मैच में तिहरा शतक लगाने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने 22 साल की उम्र में रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) के एक मैच में 405 गेंद पर 341 रन बना दिए। जिसमें उल्लेखनीय बात यह है कि उन्होंने इस दौरान मिजोरम के खिलाफ 56 चौके और 2 छक्के भी जड़े।

वहीं एक दिलचस्प बात इस दौरान यह रही कि जब साकिबुल गनी की उपलब्धि के बाद उनके बड़े भाई फैसल से मीडिया ने बातचीत की तो उन्होंने बताया कि, “कभी भी उनकी मां ने पैसे की कमी महसूस नहीं होने दी। जब भी उनके परिवार पर परेशानी आती तो मां गहने गिरवी रखकर मदद कर देती थी।” इतना ही नहीं फैसल ने कहा कि, “जब मेरा छोटा भाई टूर्नामेंट खेलने के लिए जा रहा था तब मेरी मां ने उसे 3 बैट दिए थे और कहा था जाओ बेटा तीन शतक लगा कर आना।”

Sakibul Gani

वहीं अब बात 22 साल के इस क्रिकेटर के जन्म की करें तो इनका जन्म बिहार के मोतिहारी में हुआ है और इन्होंने इससे पहले 14 लिस्ट ए मैचों में 377 रन बनाए थे। वहीं 11 टी-20 मुकाबलों में उन्होंने कुल 192 रनों का योगदान दिया था। लेकिन मिजोरम के खिलाफ इन्होंने जो पारी खेली वह अद्भुत और अविस्मरणीय रहेगी।

हर सातवीं गेंद पर साकिबुल ने मारा चौका…

Sakibul Gani

बता दें कि साकिबुल गनी ने मिजोरम के खिलाफ रणजी ट्रॉफी के इस मुकाबले में 341 रन बनाए और उन्होंने 405 गेंदों की पारी में 56 चौके और दो छक्के लगाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 84.20 का रहा। वहीं साकिबुल की पारी को देखें तो उन्होंने हर सातवीं गेंद पर एक चौका मारा है। ऐसे में 341 में से 236 रन सिर्फ उन्होंने चौके-छक्कों से बटोरा।

Sakibul Gani

सचिन तेंदुलकर ने साकिबुल की तारीफ की…


पूर्व भारतीय बल्लेबाज और क्रिकेट के रनमशीन सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने बिहार के साकिबुल गनी के तिहरा शतक बनाने पर अपनी प्रतिक्रिया दी हैं। सचिन तेंदुलकर ने ट्विटर पर लिखा कि,“अपने डेब्यू रणजी ट्रॉफी मैच में सॉलिड प्रदर्शन करने वाले सकीबुल गनी को बहुत बहुत बधाई। ऐसे ही प्रदर्शन करते रहो।”

अजय रोहेरा का रिकॉर्ड टूटा…

Sakibul Gani

इसके अलावा आख़िर में बताते चलें कि साकिबुल ने मध्य प्रदेश के अजय रोहेरा के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है और रोहेरा ने हैदराबाद के खिलाफ दिसंबर 2018 में 267 रन की पारी खेली थी। उन्होंने 345 गेंदों का सामना करते हुए 21 चौके और पांच छक्के लगाए थे। डेब्यू मैच में धमाका करने वाले रोहेरा को अब तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने का मौका नहीं मिला है और उनके खाते में नौ प्रथम श्रेणी और छह लिस्ट-ए मैच हैं।

Back to top button