ब्रेकिंग न्यूज़

विलय होने जा रहे हैं ये 9 बैंक, आपका खाता है तो ये बातें जानना बहुत जरुरी है.

नई दिल्ली – अगर आपका किसी सरकारी बैंक में खाता है तो यह खबर पढ़ना आपके लिए बहुत जरुरी है, क्योंकि मोदी सरकार देश की आर्थिक स्थिती को और मजबुत करने के लिए बड़े पैमाने पर वैश्विक आकार के बैंकों की संख्या को कम करने कि तैयारी कर रही है। जिसके तहत, सरकार स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के जैसे ही कई और सरकारी बैंकों का विलय किये जाने योजना है। सरकार की योजना के मुताबिक आने वाले कुछ सालों में सरकारी बैंकों की संख्या को 21 से घटाकर 10 से 12 तक किया जाना है। What do when bank is merging.

क्या है सरकार की योजना :

Woman in PM Modi security team

दरअसल, इस कदम के पीछे सरकार का उद्देश्य पूरे देश में एसबीआई के जैसे ही कम से कम 3-4 बैंक रखने की योजना है। इस योजना के अनुसार, पंजाब एंड सिंध बैंक और आंध्रा बैंक जैसे बैंक और मध्यम आकार के कुछ बैंक स्वतंत्र रहेंगे। लेकिन, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, बैंक ऑफ इंडिया जैसे बड़े बैंकों का अधिग्रहण करने के लिए छोटे बैंकों के समायोजन करने का प्लान है।

आपके बैंक का ऐक्विज़िशन हो तो क्या करें :

सरकार की इस योजना के तहत अगर आपके बैंक का भी अधिग्रहण या ऐक्विज़िशन हो रहा है तो जो बैंक आपके बैंक का अधिग्रहण करेगा, उसमें आपका खाता अपने आप ट्रांसफर हो जाएगा। हालांकि, बैंक इस तरह के अधिग्रहण से पहले अपने ग्राहकों को इस बारे में एक नोटिफिकेशन के जरिए सूचना देगा।  इस नोटिफिकेशन के जरिए ग्राहकों से कहा जाएगा कि, आपका खाता अपने आप ही दूसरे बैंक में ट्रांसफर हो जाएगा और इस पर ग्राहकों की सहमति मांगी जाएगी।

बैंक की पासबुक और एटीएम कार्ड का क्या करें :

सरकार की इस योजना के तहत अगर आपके बैंक का अधिग्रहण हो चुका है या होने वाला है, तो आपको अपने पुराने बैंक की पासबुक और एटीएम को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। आप अपने पुराने पासबुक और एटीएम कार्ड का इस्तेमाल नए बैंक के लिए भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको नए बैंक का नया पासबुक और एटीएम कार्ड बनवाने की जरुरत नहीं होगी। हालांकि, नया पासबुक और एटीएम कार्ड देने की जिम्मेदारी नए बैंक की होगी।

Related Articles

Close