समाचार

10 साल की बच्ची से दुष्कर्म कर कुएं में फेंका, सूझबूझ दिखा रस्सी से लटकी रही मासूम और ..

देशभर में बच्चों के साथ होने वाले यौन शोषण के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब इसी कड़ी में एक ताजा मामला मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीहोर (Sehore) जिले के इछावर थाने के दुधलाई में देखने को मिला है।

यहां एक 30 साल के शख्स ने 10 साल की बच्ची से रेप करने की कोशिश की। जब वह इसमें नाकाम रहा तो उसने बच्ची को कुएं में फेंक दिया। हालांकि बच्ची ने हार नहीं मानी और कुएं में मोटर निकालने की रस्सी के सहारे लटकी रही।

हैवान ने बच्ची से ज्यादती कर कुएं में फेंका

well

यह पूरी घटना शुक्रवार (14 जनवरी) शाम की बताई जा रहा है। बच्ची शोच करने गई हुई थी। जब वह वापस आई तो दुधलाई निवासी रमेश मोंगिया ने उसे अपने पास बुलाया और जबरन खेत की तरफ ले गया। यहां शख्स ने बच्ची की इज्जत लूटने की कोशिश की। हालांकि वह कथित रूप से इसमें नाकाम रहा। उसकी इस हैवानियत की किसी को भनक न लगे इसलिए उसने बच्ची को कुएं में फेंक दिया।

रस्सी के सहारे घंटों लटकी रही बच्ची

well in india

बच्ची जैसे ही कुएं में गिरी तो उसने बचने के लिए पानी की मोटर को बांधने वाली रस्सी पकड़ ली। कुएं में पानी भी कम ही था। ऐसे में बच्ची उस रस्सी को पकड़े पानी में आधे घंटे तैरती रही। वह इस दौरान मदद के लिए लगातार चिल्ला रही थी।

मां ने कुएं में देखा तो बाहर निकाला

child victim

उधर जब बच्ची बहुत देर तक घर नहीं लौटी तो मां उसे खोजते हुए खेतों की तरफ गई। यहां एक कुएं के पास से गुजरते हुए उसे बच्ची के रोने की आवाज सुनाई दी। जब उसने कुएं में झाँका तो उसके होश उड़ गए। बच्ची अंदर रस्सी के सहारे लटकी हुई थी। फिर मां ने शोर मचा ग्रामीणों को बुलाया और सभी ने मिलकर बच्ची को शाम 7:10 तक बाहर निकाला।

सिर में आए आठ टांके

child victim

कुएं से बाहर निकालने के बाद बच्ची को इछावर अस्पताल ले जाया गया। यहां कुएं में गिरने की वजह से उसके सिर में आठ टांके आए। जल्द ही पुलिस को इसकी सूचना दी गई। बच्ची के बयान के आधार पर पुलिस ने आरोपी रमेश के खिलाफ धारा 376, 302 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया। बच्ची का मेडिकल टेस्ट भी किया गया जिसमें रेप की पुष्टि नहीं हुई। हालांकि पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू कर दी।

आरोपी पर रखा 10 हजार का इनाम

आरोपी रमेश इस घटना को अंजाम देने के बाद फरार था। पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। ऐसे में उन्होंने रमेश पर दस हजार रुपए का नाम भी रख दिया। कुछ समय बाद पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया। वह भागने की फिराक में हाइवे पर खड़ा था। वहीं से पुलिस ने उसे दबोच लिया।

Back to top button