विशेष

लुटेरी दुल्हन को पकड़ने के लिए पुलिस ने बनाया अनोखा प्लान, बारात में पहुंचे TI और पुलिस वाले

आजकल समाज में ठगों का दायरा बढ़ता ही जा रहा है. इनमे लड़के क्या लड़कियां भी पीछे नहीं हटती है. ऐसे में कई लड़कियां भी दुल्हन बनकर ठगी का काम करती है. अब पुलिस ने शादी का झांसा देकर 85 हजार रुपए ठगने वाली लुटेरी दुल्हन को उसी का पैंतरा लगाकर पकड़ा है. ऐसे में पुलिस ने नकली दूल्हे को तैयार कर उसे पकड़ने के लिए जाल बिछाया.

वह ठग दुल्हन नया शिकार समझकर शादी के लिए इंदौर आ गई. वहीं दूसरी तरफ पुलिस भी बरात लेकर पहुंच गई. बाद में दुल्हन और उसके साथियों को दबोच लिया गया. अब मामले में ठगोरी दुल्हन से पूछताछ जारी है.

fake-dulhan-in-indore

इस मामले में सेंट्रल कोतवाली थाना प्रभारी अशोक पाटीदार के अनुसार दो दिन पहले रवि ठाकुर ने शिकायत दर्ज कराइ थी कि उसके परिचित विनोद ने उससे शादी के लिए बात की. एक लड़की की तस्वीर दिखा कर उसे बताया कि उसका नाम रेशमा है. रवि ने रेशमा को पसंद कर लिया है.

वहीं उसी दिन शाम को शादी की तैयारी भी हो गई. शादी में रेशमा के साथ उसकी मां पूजा और रिश्तेदार देवास में भेरूगढ़ के पास मंदिर पहुंचे. 10 दिन पहले उनकी शादी हुई.

fake-dulhan-in-indore

शादी के बाद उनका इंदौर आना हुआ. ऐसे में रेशमा ने उससे कहा कि उसका भाई संजय सेतु पुल पर खड़ा हुआ है. उसे मोबाइल देना है. इस शादी के बदले में रेशमा और उसके परिवार वालों ने लड़के से 85 हजार रुपए लिए थे. रेशमा मोबाइल देने के बहाने गई और फिर वहां से भाग निकली.

इसके बाद इस ठगोरी दुल्हन को हिरासत में लेने के लिए TI ने उसी का पैतरा इस्तेमाल किया. उन्होंने भी एक नकली दूल्हा तैयार किया. जिसने शादी के लिए रेशमा और उसकी माँ से संपर्क किया.

fake-dulhan-in-indore

साथ ही उसने इस शादी के बदले 1 लाख रूपये देने का लालच भी दिया. ठगोरी दुल्हन को नया शिकार नजर आया, तो शादी के लिए तैयार होकर मोती तबेला के पास मंदिर में आ गई. जैसे ही इस शादी की प्रक्रिया शुरू होने लगी तो कोतवाली थाने की पुलिस बारात लेकर वहां पहुंच गई. उन्होंने ठगोरी दुल्हन, उसकी मां और अन्य लोगों को वहा से पकड़ लिया.

लुटेरी रेशमा का असली नाम राधिका
राव उर्फ वर्षा उर्फ रेशमा पत्नी सनी सालवी निवासी नार्थ हरसिद्धि मोती तबेला है. उसकी माँ बनने वाली पूजा सावंत उर्फ पूजा पटेल पत्नी सोनू मराठा निवासी द्वारकापुरी है. उसकी बहन बनने वाली आरोपी का नाम मंजू पत्नी वीरेंद्र चौधरी है. अब इन सभी को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है.

उन्होंने कुछ और लोगों को शादी के नाम पर ठगा है. सभी के नाम पुलिस उनसे एक-एक कर उगलवा रही है. बता दें कि इस तरह के मामले देश में दिनों-दिन बढ़ते ही जा रहे है. अगर आपके पास भी कोई ऐसा आता है तो पुलिस को तुरंत संपर्क करें.

Back to top button
?>