समाचार

75 हजार लोगों के खाते में गलती से आए 1300 करोड़ रु से ज्यादा : नए साल पर जमकर शॉपिंग भी कर ली

बैंक की गलती से धनकुबेर बने 75 हजार लोग: क्या बैंक को वापस मिल पाएगा पैसा?

बैंक की गलती से खाते में पैसे आने के कई मामले आपने सुने होंगे। लेकिन यह मामला अपने आप में अनोखा है। इसमें बैंक की गलती से लोगों के खाते में लगभग एक हजार तीन सौ दस करोड़ रु(1310 करोड़ रु) जितनी बड़ी रकम आ गई, वो भी एक-दो लोगों के नहीं बल्कि 75 हजार लोगों के खाते में इतनी बड़ी रकम पहुंच गई। इसमें जो सबसे खास बात है वो यह कि ऐसे ज्यादातर मामलों में बैंको को कुछ मिनटों या घंटों में ही पैसा वापस मिल जाता है, लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं हुआ।

लोगों के खाते में जब पैसे आए तो उन्होंने जमकर शॉपिंग भी की। बैंक से यह गलती क्रिसमस के दौरान हुई थी। क्रिसमस और न्यू ईयर के समय लोग अपने एकाउंट में इतने पैसे देखकर फूले नहीं समाये और जमकर खरीदारी कर डाली।

जब 75 हजार लोग पर-भर में हो गए मालामाल

मालामाल करने वाली ये घटना ब्रिटेन के Santander बैंक की है, जहां गलती से 75 हजार लोगों के खाते में हजार करोड़ से अधिक रुपये भेज दिए गए। ये रकम बैंक के ही 2 हजार से ज्यादा खातों से ट्रांसफर की गई थी। बाद में जब हिसाब हुआ तो ये रकम £130 मिलियन निकली। भारतीय रुपयो में ये राशि करीब 1310 करोड़ रु होगी । बैंक को अपनी गलती का पता तो चल गया, लेकिन अब उसके सामने सबसे बड़ी दिक्कत ये आ रही है कि वो ग्राहकों से ये पैसा वापस कैसे ले।

लोगों ने जमकर खर्च किए पैसे

तकनीकी दिक्कत के कारण बैंक तुरंत पैसा वापल नहीं ले पाया जिसका फायदा ग्राहकों ने उठाया और अपने एकाउंट से जमकर पैसे खर्च किए। क्रिसमस और न्यू ईयर के मौके पर गलती से धनकुबेर बन गए इन लोगों ने अपने खजाने का इस्तेमाल कर अपनी हर ख्वाहिश पूरी कर ली। इस खरीदारी के कारण इस बैंक को करोड़ों का नुकसान हो सकता है।

क्या पैसा वापस ले पाएगा बैंक?

इतनी बड़ी रकम की गड़बड़ी होने से बैंक अधिकारियों के होश उड़ गए हैं। बैंक ने कहा कि हमें खेद है कि तकनीकी समस्या के कारण हमारे कॉर्पोरेट ग्राहकों के पैसे कुछ ग्राहकों के खाते में गलत तरीके से चले गए। इस वजह से हम यूनाइटेड किंगडम यानि ब्रिटेन के सभी बैंकों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, ताकि डुप्लीकेट ट्रांसजेक्शन को ट्रैक किया जा सके। इसके बाद ग्राहकों से ये पैसा लिया जाएगा। खबर है कि जिन लोगों के अकाउंट में पैसे गए हैं, बैंक उन्हें लगातार फोन कर संपर्क कर रहा है, ताकि हिसाब-किताब बराबर किया जा सके।

टेक्निकल प्रॉब्लम से प्रॉब्लम में फंसा बैंक

ब्रिटेन के इस बैंक से जो गलती हुई वो मानवीय भूल नहीं बल्कि तकनीकी समस्या की वजह हुई। बैंक के एक मैनेजर ने बताया कि शुरू में उन्हें लगा कि ये उनकी गलती से हो रहा है। उसे ठीक करने के लिए उन्होंने रात-दिन एक कर दिया, उनकी पूरी छुट्टी बर्बाद हो गई लेकिन गलती ठीक नहीं हुई। बाद में पता चला कि यह गलती टेक्निकल प्रॉब्लम की वजह से हुई है।

Back to top button