समाचार

कांग्रेस में फिर चीर फाड़: रावत के ट्वीटस से उड़ी सोनिया-राहुल की नींद, गांधी परिवार पर बोला हमला

देहरादून : समय-समय पर राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस पार्टी में नाराजगी देखने को मिलती रहती है. कांग्रेस आलाकमान पर कई बड़े नेताओं ने हमला बोला है और गांधी परिवार के ख़िलाफ़ ही कई बार कांग्रेस के बड़े नेता हो गए. अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने गांधी परिवार पर जमकर हमला बोला है.

harish rawat

कांग्रेस पार्टी और गांधी परिवार के ख़िलाफ़ हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर जमकर गुस्सा जाहिर किया और हमला बोला. पूर्व सीएम ने अपने ट्विटर एकाउंट से एक के बाअद एक कई ट्वीट आकर उत्तराखंड की सियासत में खलबली मचा दी है. उनके ट्वीट्स से साफ़ जाहिर हो गया है कि उनके और कांग्रेस आलाकमान के बीच कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है.

harish rawat

अपने एक ट्वीट में हरीश रावत ने संगठन पर सवाल खड़े करते हुए लिखा कि, ”है न अजीब सी बात, चुनाव रूपी समुद्र को तैरना है, सहयोग के लिए संगठन का ढांचा अधिकांश स्थानों पर सहयोग का हाथ आगे बढ़ाने के बजाय या तो मुंह फेर करके खड़ा हो जा रहा है या नकारात्मक भूमिका निभा रहा है. जिस समुद्र में तैरना है.”

हरीश रावत ने बुधवार दोपहर भी एक के बाद एक कई ट्वीट किए हैं. अपने एक अन्य ट्वीट में रावत ने लिखा है कि, ”जिनके आदेश पर तैरना है, उनके नुमाइंदे मेरे हाथ-पांव बांध रहे हैं. मन में बहुत बार विचार आ रहा है कि हरीश रावत अब बहुत हो गया, बहुत तैर लिए, अब विश्राम का समय है!”

‘नया साल दिखाएगा रास्ता ?’….

हरीश रावत ने एक अन्य ट्वीट में भगवान केदारनाथ से रास्ता दिखाने की बात कहते हुए लिखा कि, ”फिर चुपके से मन के एक कोने से आवाज उठ रही है “न दैन्यं न पलायनम्” बड़ी उपापोह की स्थिति में हूं. नया वर्ष शायद रास्ता दिखा दे. मुझे विश्वास है कि भगवान केदारनाथ जी इस स्थिति में मेरा मार्गदर्शन करेंगे.”

उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत के ये सभी ट्वीट्स चर्चाओं में बने हुए हैं. खासकर उनका विश्राम वाला ट्वीट देखकर तो कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. माना जा रहा है कि वे राजनीति से संन्यास लें सकते हैं या फिर कांग्रेस पार्टी का दामन छोड़ सकते हैं. खैर होगा क्या यह तो आने वाला समय ही बताएगा.

harish rawat

गौरतलब है कि देश में अगले साल जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है उनमें उत्तराखडं भी शामिल है और ऐसे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं उत्तरखंड के पूर्व सीएम की नाराजगी से कांग्रेस में खलबली मच गई है.

Back to top button
?>