इज़रायल से भारत को मिली वो तकनीक जो दुनिया में सिर्फ दो देशों के पास है!

नई दिल्ली –  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार से इजारयल दौरे हैं। यह पहली बार है जब भारत का कोई प्रधानमंत्री इजरायल के दौरे पर गया है। मोदी के दौरे से भारत और इज़रायल में दोस्ती की नई शुरुआत हुई है। इस दोस्ती को और मजबूत करते हुए दोनों देशों के अंतरिक्ष और साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में कई समझौते हुए हैं। India Israel cooperation in space technology.

OFEK रडार के जद में होंगे पाक और चीन :

भारत और इज़रायल ने सेटेलाइट के इस्तेमाल के दायरे को बढ़ाने के लिए कई समझौते हुए हैं। इस समझौतों से सेटेलाइट के ज़रिए भारत की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा की निगरानी में और अधिक पैनापन आयेगा। अंतरिक्ष के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच जो समझौते हुए हैं उनमें सबसे महत्वपूर्ण समझौता OFEK रडार को लेकर है। दरअसल, OFEK एक हाई रिजॉल्यूशन सिंथेटिक अपरचर रडार है।

OFEK ज़मीन पर होने वाले छोटे से छोटे मूवमेंट की हाई रिजॉल्यूशन तस्वीरे और वीडियो तैयार करने में सक्षम है, जिसकी मदद से किसी भी दुश्मन को पहचाना जा सकता है। अपनी इस खास खुबी के कारण ये रडार सीमा पर घुसपैठ और दुश्मन सेना के मूवमेंट पर नज़र रखने के लिए बेहद कारगर साबित होगा।

 70 सालों से इजरायल कर रहा था भारत का इंतजार : 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इजरायल के ऐतिहासिक दौरे पर हैं और वहां उनका भव्य स्वागत हो रहा है। इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू मोदी के वहां आने को लेकर भावुक हो गए, उन्होंने कहा – ‘हम पिछले 70 सालों से आपका इंतजार कर रहे हैं।’ यहां आपको बता दें कि मोदी इजरायल जाने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं।

इससे पहले जब पीएम इजरायल पहुंचे तो उनके स्वागत के लिए खुद इजरायल के पीएम नेतन्याहू प्रोटेकाल तोड़ते खुद हवाई अड्डे पर मौजूद थे। नेतन्याहू ने इस मौके को उस वक्त और खास बना दिया जब उन्होंने पीएम मोदी का हिंदी में अभिवादन करते हुए कहा, ‘आपका स्वागत है मेरे दोस्त।’ जिसके जवाब में पीएम मोदी ने भी नेतन्याहू को सलाम करते हुए हिब्रू भाषा में इजरायल आने पर अपनी खुशी जाहिर की।