राजनीतिसमाचार

UP चुनाव के पहले भाजपा का ऐलान- अयोध्या-काशी में भव्य मंदिर निर्माण जारी, अब मथुरा की तैयारी

उत्तर प्रदेश में अगले साल यानि 2022 में विधानसभा चुनाव होना है। ऐसे में सभी राजनीतिक दलों ने यूपी पर अपनी पकड़ बनाने के लिए काम शुरू कर दिया है। इस बीच उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने एक ट्वीट कर राजनीतिक गलियारे में खलबली मचा दी है।

यूपी चुनाव के पहले मथुरा में भव्य मंदिर की घोषणा

दरअसल केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि अयोध्या और काशी में भव्य मंदिर निर्माण जारी है। अब मथुरा की तैयारी है। उनके इस ट्वीट से यह कयास लगाए जा रहे हैं कि इस चुनावी सत्र में भी भाजपा विकास के साथ हिंदुत्व के मुद्दे को हवा देने की योजना बना रही है।

यूपी के उपमुख्यमंत्री सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने अपने ट्वीट में लिखा “अयोध्या और काशी में भव्य मंदिर निर्माण जारी है। मथुरा की तैयारी है।” इसके साथ ही उन्होंने #जय_श्रीराम, #जय_शिव_शम्भू और #जय_श्री_राधे_कृष्ण जैसे हैशटैग इस्तेमाल किए।

मथुरा जन्मभूमि प्रकरण पर रहेगा जोर

बीजेपी ने स्टार्टिंग से ही अपने एजेंडा में अयोध्या, काशी और मथुरा को शामिल कर रखा है। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि का विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद वहाँ राम मंदिर निर्माण का काम जोर-शोर से चल रहा है। अब भाजपा मथुरा जन्मभूमि प्रकरण पर जोर दे रही है। कुछ दिनों पूर्व ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने मथुरा और वृंदावन कोतीर्थस्थल घोषित किया था। इसके साथ ही यूपी सरकार ने मथुरा-वृंदावन नगर निगम के 22 वार्डों को पवित्र तीर्थ स्थल घोषित करने के बाद वहाँ मांस-मदिरा की बिक्री बैन कर दी थी।

laddu gopal shri krishna

मस्जिद में होगा लड्डू गोपाल का जलाभिषेक?

बीते दिनों हिंदू संगठनों ने 6 दिसंबर को मथुरा में शाही मस्जिद ईदगाह में लड्डू गोपाल का जलाभिषेक करने की घोषणा की थी। इससे माहौल और भी गर्म हो गया है। पुलिस और प्रशासन हर टाइप की सिचूऐशन से निपटने के लिए हरकत में आ गई है। दोनों धार्मिक स्थलों की तरफ जाने वाले सारे रास्तों पर अभेद्य किलेबंदी की योजना रेडी है।

वहीं दूसरी तरफ हिंदूवादी संगठन भी एक्टिव हो गए हैं। मंगलवार को पुलिस ने यमुना के विश्राम घाट से श्रीकृष्ण जन्मस्थान तक संकल्प यात्रा निकालने का एलान करने वाली नारायणी सेना के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ऋषि उपाध्याय को गिरफ्तार कर जेल भेज भी दिया है। वहीं नारायणी सेना के 3 अन्य लोगों को पुलिस पहले ही जेल की हवा खिला चुकी है।

इस बीच अखिल भारत हिंदूू महासभा की जिलाध्यक्ष छाया गौतम द्वारा एक वीडियो भी जारी किया गया था। इसमें उन्होंने बताया कि महासभा ने 6 दिसंबर को कार्यक्रम करने की इजाजत मांगी थी जो कि प्रशासन ने नहीं दी। इसलिए आप सभी अपने-अपने घरों में ही 6 दिसंबर की दोपहर 12 बजे जलाभिषेक करें और भीड़ एकत्रित न होने दें।

हालांकि उनके वीडियो के आने के बाद अखिल भारत हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष राज्यश्री चौधरी का बयान आया कि पुलिस ने छाया गौतम को उठाकर जबरन उनसे ये वीडियो बनवाया है। हम  प्रशासन से बातचीत कर रहे हैं। 5 दिसंबर तक सारी रणनीति आपके सामने होगी।

Back to top button
?>