‘GST यानि गो सुरक्षा टैक्स’ – ये बात उस लड़की ने कही है जो जेएनयू में बवाल करती है!

नई दिल्ली JNU की उस घटना को कौन भूल सकता है जब कन्हैया और उमर खालिद गिरोह ने खुलेआम देशद्रोह के नारे लगाये थे। जिसके बाद देश का माहौल गरमा गया था। इस पूरे मामले में खालिद के साथ जेएनयू की छात्र नेता शहला राशिद भी शामिल हुई थी। तब ये मुद्दा सोशल मीडिया पर खूब छाया हुआ था। अब एक बार फिर शहला राहिद ने 1 जुलाई से लागू हो रहे वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लेकर एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में शहला ने जो बात लिखी है वो बावल मचाने के लिए काफी है। Shahala Rashid twite on gst.

 

शहला राशिद : जीएसटी मतलब गो रक्षा टैक्स –

शहला ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘GST मतलब गो सुरक्षा टैक्स। शाहला ने आगे ये भी लिखा है कि, क्या हम बेकाबू भीड़ द्वारा लोगों की हत्या करने के लिए टैक्स दे रहे हैं?’ शहला राशिद के इस ट्वीट का कुछ लोगों ने समर्थन करते हुए लिखा है, ‘हमारे सारे टैक्स का पैसा आरएसएस और इसके आंतकियों के पास जाएगा।

 

वहीं एक और यूजर ने लिखा है, ‘भारत की आधी आबादी में आरएसएस है, इसलिए हम खुद की मर्जी से टैक्स देते हैं।’ एक अन्य यूजर ने लिखा है, ‘बिल्कुल सही आधी आबादी में आरएसएस हैं, लेकिन शहला तो ऐसे रो रही है जैसे सारा टैक्स यही देती है।’

 

शहला के जीएसटी ट्वीट पर यूजर्स ने दिया जवाब –  

वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा है, ‘यहां तो और भी पाकिस्तानी हैं।’ एक अन्य यूजर ने लिखा है, ‘चिंता मत कीजिए जीएसटी सिर्फ भारतीयों के लिए हैं।’ आपको बता दें कि उमर खालिद और शेहला राशिद सुर्खियों में तब आये थे जब इन्होंने जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया के साथ मिलकर अफजल गुरु की बरसी पर कार्यक्रम आयोजित किया था और उस कार्यक्रम में भारत तेरे टुकड़े होंगे जैसे नारे लगाए लगाये थे।

 

अभी इसी साल खालिद और शेहला राशिद के विरोध में रामजस कॉलेज में एबीवीपी और आइसा के छात्रों के बीच जमकर मारपीट हुई थी। इस दौरान मौरिस नगर पुलिस थाने के एसएचओ सहित कुछ पुलिसकर्मियों से भी प्रदर्शन के दौरान बदसलूकी की गई। कुछ पत्रकारों ने भी आरोप लगाया था कि झड़प के दौरान पुलिसकर्मियों ने उन पर हमला किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.