विशेष

बार में लड़कियों से हो रहा घिनौना काम, बिना टच किए अपराधी कर लेता काबू, सुबह कुछ याद नहीं रहता

आज के जमाने में किसी भी देश में लड़कियां सुरक्षित नहीं है। खासकर रात के समय सुनसान सड़कों या पब जैसी जगहों पर लड़कियों को टारगेट किया जाता है। उनके साथ दुष्कर्म करने के इरादे से लोग उन्हें किडनेप करते हैं या धोखे से कुछ नशीली चीजें पीला देते हैं। लेकिन जरा सोचिए क्या होगा जब क्राइम करने वाला लड़की को टच किए बिना ही उसे बेहोश कर दे। लड़की को इस बात की कानोंकान खबर न हो।

इतना ही नहीं होश में आने के बाद उसे अपने साथ हुई घटना याद भी न हो। यकीनन ये बहुत ही खतरनाक स्थिति होगी। हालांकि बदकिस्मती से इन दिनों ऐसे क्राइम बहुत हो रहे हैं।

बिना टच के लड़कियों को बेहोश कर रहे अपराधी

बीते कुछ दिनों में स्कॉटलैंड की लड़कियों के साथ एक अलग टाइप का क्राइम हो रहा है। इस क्राइम में आरोपी लड़की को टच किए बिना उन्हें बेहोश कर देता है। फिर मौका मिलते ही वह उसके साथ घिनौना काम करता है। सुबह जब लड़की को होश आता है तो उसे कुछ याद भी नहीं रहता है। ऐसी ही एक घटना 26 साल की रेबेका डर्बीशायर नाम की लड़की के साथ होने जा रही थी, हालांकि वे सही समय पर संभाल गई और दुष्कर्म का शिकार होने से बच गई।

रेबेका ने जब अपने साथ हुए क्राइम की जांच पड़ताल कि तो पाया कि और भी कई लड़कियों के साथ इस तरह के अपराध हुए हैं। अपना अनुभव साझा करते हुए रेबेका ने बताया कि मैं बार में अपने ऑर्डर का इंतजार कर रही थी, तभी मुझे अपने कंधे पर कुछ चुभने का एहसास हुआ। मुझे चुभन के बाद तेज नींद आने लगी। किस्मत से तब मेरे साथ मेरा एक दोस्त भी वहां मौजूद था। शायद किसी ने मुझे जानबूझकर टारगेट किया था।

सुई चुभा देते हैं बेहोशी की दवाई

रेबेका ने आगे बताया कि चुभन के बाद वह बेसुध होने लगी। फिर उनका दोस्त और होटल के लोग मदद को आए। वे उन्हें डॉक्टर के पास ले गए। यहां उनकी एचआईवी और हेपेटाइटिस समेत कई जांचें हुई। दरअसल पहले कुछ ऐसे भी केस देखे जाते थे जहां लोग सुई चुभाकर लोगों को एचआईवी पॉजिटिव कर देते थे। हालांकि रेबेका के केस में मामल कुछ और ही था। डॉक्टर ने उन्हे बताया कि आरोपी ने उन्हें एक ऐसा इंजेक्शन दिया जो इंसान को धीरे-धीरे बेहोश कर देता है। यह आपको अस्थायी रूप से अपंग भी बना सकता है।

पहले तो रेबेका को लगा कि यह सिर्फ उनके साथ ही हुआ है, लेकिन बाद में उन्हें पता चला कि और भी कई लड़कियों पर सुई से ऐसे हमले हुए हैं। इसके बाद उन्होंने तुरंत इस घटना की जानकारी पुलिस को दी। वहां उन्हें पता चला कि पुलिस के पास बीते दो महीनों में ऐसे बीस से अधिक मामले आए हैं। नेशनल पुलिस चीफ्स काउंसिल के अनुसार अधिकतर मामले केस स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड से आए हैं।

बढ़ रहे हैं ऐसे अपराध

नॉटिंघम यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली 19 साल की जारा ओवेन के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ था। 11 अक्टूबर को प्रेजम नाइट क्लब में उनके पैर में कुछ चोट लगी। फिर जो हुआ उन्हें कुछ याद नहीं है। नुकीली चीजें धंसाने वाले ऐसे 14 केस नॉटिंघमशायर पुलिस को अकेले अक्टूबर माह में मिले हैं।  महिलाओं के ऊपर होने वाले स्पाइकिंग हमले की यह बात जब सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो पूरे ब्रिटेन में पुलिस ने जांच शुरू कर दी।

वैसे इस तरह की घटना आपके साथ भी कहीं भी हो सकती है। ऐसे में रात को कहीं अकेले जाने की बजाय किसी दोस्त को जरूर ले जाए। वहीं किसी अनजान व्यक्ति के हाथ से कुछ न पिए।

Back to top button