विशेष

पैसा गलती से किसी और के बैंक अकाउंट में चला जाए तो वापस कैसे मिलेगा? जानिए RBI की गाइडलाइंस

भारत अब डिजिटल इंडिया की ओर तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में ऑनलाइन पेमेंट और UPI भुगतान जैसी बैंकिंग सुविधाओं का चलन भी बढ़ गया है। इससे हमारी लाइफ बहुत आसान हो गई है। लेकिन कई बार ऑनलाइन बैंकिंग प्रक्रियाओं में कुछ गड़बड़ भी हो जाती है। कभी हम धोखाधड़ी का शिकार हो जाते हैं तो कभी गलत ट्रांजैक्शन कर देते हैं।

यदि आप गलती से किसी और शख्स के बैंक अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर दें तो घबराने की जरूरत नहीं है। आप उससे वह पैसा निकलवा सकते हैं। इसके लिए खुद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कुछ खास निर्देश दिए हैं। इसके जरिए आप तुरंत रिफंड का प्रोसेस इनीशिएट कर सकते हैं।

ये है आरबीआई की गाइडलाइंस

गलत ट्रांजैक्शन की घटनाओं को रोकने के लिए आरबीआई ने कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं। यदि आप ATM, UPI या फिर नेट बैंकिंग से कोई ट्रांजैक्शन करते हैं तो इस ट्रांजैक्शन के पूरा होने के तुरंत बाद आपके मोबाईल पर एक मैसेज आता है। इस मैसेज में आप से पूछा जाता है कि क्या आप ने सही ट्रांजैक्शन किया है या फिर ये गलती से हो गया है।

इस मैसेज में आपको एक नंबर भी दिया जाएगा। यदि आप ने कोई ट्रांजैक्शन गलती से किया है तो आप उस फोन नंबर पर कॉल कर इसकी सूचना तुरंत दे सकते हैं। आरबीआई के निर्देश के अनुसार ऐसे मैसेज पर आई शिकायत पर बैंक का तुरंत एक्शन लेना अनिवार्य है।

बैंक को फ्रॉड या गलती से हुए ट्रांजैक्शन की जानकारी आपको डिटेल में देनी होगी। जैसे आपका बैंक अकाउंट नंबर क्या है, आप ने जिसे गलती से पैसा ट्रांसफर कर दिया उसकी अकाउंट डिटेल्स क्या है, आप ने किस समय और कितना अमाउन्ट ट्रांसफर किया इत्यादि। यह सूचना देने के लिए आप बैंक के कस्टमर केयर नंबर पर कॉल भी कॉल कर सकते हैं। इसके अलावा आपका जिस बैंक में अकाउंट है आप डायरेक्ट उस बैंक की ब्रांच पर जाकर भी संपर्क कर सकते हैं।

ऐसे वापस आएगा पैसा

जब आप बैंक को अपने गलत ट्रांजैक्शन की डिटेल्स देते हैं तो वह उस शख्स से संपर्क करता है जिसके खाते में आप ने गलती से पैसा डाल दिया है। अब यदि वह शख्स आपके पैसे लौटाने के लिए राजी हो जाता है तो मामला यहीं खत्म हो जाता है। लेकिन यदि उस बंदे ने आपके पैसे वापस करने से इनकार कर दिया तो आपको लीगल एक्शन लेना होगा। आरबीआई भी यही निर्देश देता है कि इस स्थिति में आप कोर्ट का दरवाजा खटखटाए। हालांकि कोर्ट में मामला काफी लंबा चल सकता है।

एक बात ध्यान रखें कि यदि आप ने गलती से कोई बैंक ट्रांजैक्शन किया है तो इसकी जवाबदेही आपकी बनती है। बैंक इसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है। इसलिए कोई भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते समय अकाउंट डिटेल्स अच्छे से चेक कर लेना चाहिए।

यहां एक बात और बता दें कि यदि आप ने रिसिपिएंट का अकाउंट नंबर गलत टाइप कर दिया और वह किसी भी शख्स का अकाउंट नंबर नहीं है तो फिर पैसा अपने आप ही आपके अकाउंट में वापस क्रेडिट हो जाता है। वहीं UPI से ट्रांजैक्शन के समय गलत अकाउंट नंबर डालाने पर पैसे कटेंगे ही नहीं क्योंकि फिर आक ट्रांजैक्शन पूरा ही नहीं हो पाएगा।

Back to top button
?>