बेटी के पैरों की पायल आपको बनाएगी धनवान, जानिये कैसे

कहते हैं श्रृंगार के बिना नारी का जीवन अधूरा होता है। आभूषणों के बिना नारी उतनी आकर्षित नही लगती। चूंकि श्रृंगार हर औरत की पहली पसंद तो होती ही है, इसके अलावा श्रृंगार के कुछ शास्त्रीय पहलू भी जुड़े हुए हैं। आइए ऐसे ही एक श्रृंगार पर गौर डालते है जिसका शास्त्रों में काफी महत्त्व दिया गया है।

घर देवी लक्ष्मी का वास होता है :

शास्त्रों के अनुसार जो स्त्री नियमित तौर पर सुबह सोलह श्रृंगार करती है, उसके घर देवी लक्ष्मी का वास होता है। ऐसी स्त्रियों का परिवार सदा आनन्दमय रहता है तथा घर में शांति का वातावरण बना रहता है। इन सोलह श्रृंगारों में से एक खास श्रृंगार है पायल। पायल स्त्रियों को खूबसूरती तो देता ही है साथ ही साथ इसके अन्य लाभ भी देखने को मिलते हैं। शास्त्रों की माने तो तो पांवो में पहनी जाने वाली पायल चांदी से बनी हो तो इससे बहुत लाभ होता है। चांदी चंद्रमा की धातु होती है, और चंद्रमा मन का कारक माने जाने वाला ग्रह होता है। चांदी की पायल पहनने से किसी भी कार्य में मन लगा रहता है और घर में खुशहाली का वातावरण बना रहता है।

पायल की घुंघरू का भी अपना अलग महत्व होता है :

पायल में बजने वाले घुंघरू का भी अपना अलग महत्व होता है। पायलों के घुंघरू से मन की एकाग्रता बनी रहती है तथा ये मन को कहि और भटकने नही देते। ऐसा माना जाता है कि जिस घर में पायल की छन-छन गूंजती है, उस घर में दिव्य शक्तियां सदैव अपनी कृपा बनाए रखती हैं। घर में नकारात्मक विचार पनपने नही देते तथा हमेशा सकारात्मक माहौल बना रहता है।

पायल से जुड़े वैज्ञानिक तथ्य :

पायल से जुड़े वैज्ञानिक तथ्य की माने तो ऐसा देखने को मिलता है कि अगर चांदी की पायल शरीर से चिपकी रहे तो वे हड्डियों को मजबूती प्रदान करते है। अक्सर देखा जाता है कि जब घर की बेटी विदा होती है तो लक्ष्मी मुँह मोड़ लेती है। घर में आर्थिक संकट आ जाता है। इस संकट से बचने के लिए शास्त्रों में एक सटीक उपाय बताया गया है।

बेटी की पायल तिजोरी में रख लें तथा-

जब बेटी का रिश्ता पक्का हो जाए तो उसे तुरंत नई चांदी की पायल पहना दे। बेटी के विदाई के समय एक पायल बेटी के पांव से निकलवाकर अपने तिजोरी में रख लें तथा दूसरी पायल उसे दे दें। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पुत्री के विवाह के समय उसे पायल दान करने से उसका वैवाहिक जीवन खुशहाली से बीतता है। ससुराल में उसे किसी बात की परेशानी नही होती तथा सभी सदस्यों से प्रेम मिलता है।

पायल से जुड़े कुछ अपशकुन :

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर किसी महिला के दाएं पांव की पायल गुम हो जाए तो उससे समाज में बदनामी होने का खतरा बना रहता है। वहीं दूसरी ओर अगर बाएं पांव की पायल गुम हो जाए तो एक्सीडेंट या अन्य महाविपदा का संकट बना रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.