विशेष

Video: गिरफ़्तार हुए युवराज सिंह, चहल पर बोलना पड़ा भारी, पुलिस ने सिखाया सबक, मांगनी पड़ी माफ़ी

साल 2020 से जुड़े एक मामले में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व स्टार ऑलराउंडर युवराज सिंह को गिरफ़्तार कर लिया गया था हालांकि थोड़ी देर बाद ही युवराज को जमानत पर रिहा भी कर दिया गया. साल 2020 में भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के साथ सोशल मीडिया पर लाइव बातचीत के दौरान युवराज ने भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था और उनके लिए ‘जातिसूचक’ कमेंट किया था.

yuvraj singh

चहल पर आपत्तिनजक कमेंट करने से जाती विशेष के लोगों ने युवराज के ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त एक्शन की मांग की थी. युवराज सिंह के ख़िलाफ़ ऐसे में रजत कलसन नाम के शख़्स ने FIR दर्ज कराई की थी और ‘युवी’ की गिरफ़्तारी की मांग की थी. इस मामले में अब हरियाणा की पुलिस ने युवराज सिंह को अरेस्ट किया था हालांकि पूर्व क्रिकेटर को जल्द ही औपचारिक जमानत देकर छोड़ दिया गया है.

Video में देखें, चहल को लेकर क्या बोले थे युवराज…

yuvraj singh and yuzvendra chahal

बता दें कि साल 2020 में लॉक डाउन के दौरान युवराज सिंह और रोहित शर्मा ने इंस्टाग्राम के माध्यम से बातचीत की थी. दोनों के बीच बातचीत में कई खिलाड़ियों का भी जिक्र हुआ था और ऐसे में चहल को लेकर भी बातें हुई थी. हालांकि चहल पर बात करते हुए युवी के बोल बिगड़ गए थे और उन्होंने चहल को जातिसूचक और आपत्तिजनक शब्द से संबोधित किया था.

शनिवार को हिसार पुलिस ने किया था ‘युवी’ को गिरफ़्तार…

बताया जा रहा है कि युवराज को हरियाणा की हिसार पुलिस ने शनिवार को ही गिरफ़्तार कर लिया था लेकिन उनकी गिरफ्तारी की सूचना गुप्त रखी गई. रविवार देर रत को इस बारे में जानकारी दी गई. पूर्व क्रिकेटर को गिरफ़्तार कर उनसे हिसार स्थित पुलिस विभाग के गजेटेड ऑफिसर मैस में थोड़ी देर पूछताछ की गई. इसके बाद उच्च न्यायालय के आदेश के बाद युवराज को जमानत पर रिहा कर दिया गया.

yuvraj singh

फोन पर जानकारी देते हुए हांसी के पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत ने कहा कि, “हमने केवल औपचारिक गिरफ्तारी की और उन्हें पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के आदेशों के अनुपालन में जमानत पर रिहा कर दिया गया.” वहीं इस केस में हांसी के पुलिस उप अधीक्षक विनोद शंकर ने कहा कि, “युवराज सिंह शनिवार को हांसी आए और हमने उनकी औपचारिक गिरफ्तारी की. उन्हें कुछ घंटों के बाद जमानत पर रिहा कर दिया गया.”

युवराज ने मांगी थी माफ़ी…

yuvraj singh

युवराज इस मामले में पहले माफ़ी भी मांग चुके थे. उन्होंने ट्वीट में लिखा था कि, ”मैं समझता हूं कि जब मैं अपने दोस्तों के साथ बातचीत कर रहा था, तो मुझे गलत समझा गया, जो अनुचित था हालांकि, एक जिम्मेदार भारतीय के रूप में मैं कहना चाहता हूं कि अगर मैंने अनजाने में किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है, तो मैं उसके लिए खेद व्यक्त करता हूं.”

Back to top button