दिलचस्प

सीने पर रखे गंगाजल से भरे 21 कलश, 9 दिनों तक करेंगे अनुष्ठान, मां के लिए दिखी अनोखी भक्ति

शारदीय नवरात्रि गुरुवार 7 अक्टूबर से शुरू हो गई है। हर साल की तरह इस बार भी भक्त माता रानी को खुश करने में लग गए हैं। कहा जाता है कि नवरात्रि के दिनों में मां दुर्गा स्वयं धरती पर आकर भ्रमण करती है। इसलिए इन दिनों माता रानी को प्रसन्न किया जाए तो वह मनवांछित फल प्रदान करती है। मां को खुश करने के लिए भक्त भी कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। हर भक्त अपनी अनोखी भक्ति से मां को प्रसन्न करने का प्रयास करता है।

नवरात्रि में लोग उपवास भी रखते हैं। कोई एक टाइम का उपवास रखता है तो कोई दोनों टाइम खाना नहीं खाता है। वहीं कोई सिर्फ फलाहार पर पूरी नवरात्रि रहता है तो कोई लोंग और पानी पीकर ही नौ दिन गुजारता है। इस बीच बिहार के पटना शहर में एक पुजारी ने बड़ा ही अनोखा उपवास रखा है। यहां मंदिर के नागेश्वर बाबा ने माता रानी को खुश करने के लिए एक ऐसा अनोखा अनुष्ठान रखा जिसे देख हर कोई हैरत में पड़ गया।

दरअसल पुजारी नागेश्वर बाबा ने अपने सीने पर गंगाजल से भरे 21 कलशों की स्थापना की है। अब नवरात्रि के 9 दिनों तक वे इसे अपने सिने पर ही रखेंगे। इतना ही नहीं इसके साथ वे नौ दिनों तक माता रानी के नाम का उपवास भी रखेंगे। दिलचस्प बात ये है कि वे पिछले 25 सालों से हर नवरात्रि पर इस तरह का अनुष्ठान करते आ रहे हैं।

नागेश्वर बाबा जिस मंदिर में पुजारी हैं वह पटना में न्यू सचिवालय के पास स्थित है। उन्होंने नवरात्रि के पहले दिन ही अपने सीने पर 21 गंगाजल से भरे कलश रख लिए और फिर देवी दुर्गा की पूजा शुरू की। उन्होंने न्यूज एजेसी ANI से बातचीत के दौरान कहा कि मैं इन कलशों को 9 दिनों तक अपने सिने पर रखूंगा। साथ ही पूर्ण उपवास भी करूंगा। मैं ऐसा बीते 25 वर्षों से हर नवरात्रि पर करता आ रहा हूं।

हम तस्वीरों में देख सकते हैं कि पुजारी जी ने बड़ी सावधानी से अपने सिने पर पीतल के 21 कलश रखे हैं। इन सभी कलशों में गंगाजल भरा हुआ है। अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इनका वजन कितना अधिक होगा। इसे 9 दिनों तक लगातार अपने सिने पर रखना, और वह भी उपवास करते हुए, बिल्कुल भी आसान बात नहीं है।

अपने इस अनोखे अनुष्ठान के चलते पुजारी जी सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं। लोग उनकी इस भक्ति और साधना की तारीफ कर रहे हैं। वहीं कुछ लोगों ने उन्हें अपनी सेहत का ख्याल रखने की भी सलाह दी।

Back to top button