ब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

तालिबान से हमदर्दी को पड़ी महंगी, न्‍यूजीलैंड खतरे के डर से मैदान में ही नहीं उतरा

पाकिस्तान हमेशा से ही आतंकियों के प्रति हमरदर्दी दिखाने को लेकर बदनाम रहा है। अफगानिस्तान पर कब्जा करने वाले आतंकी संगठन तालिबान को लेकर भी उसके दिल में प्यार ही उमड़ रहा है। वह तालिबान को गले लगाने को आतुर दिख रहा है। इस कारण उसकी इंटरनैशनल लेवल काफी बदनामी हो रही है। इसका असर ये हुआ कि हाल ही में न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले वनडे सीरीज के पहले अपना दौरा रद्द कर दिया। उन्होंने मैच के टॉस से कुछ देर पहले ही मैदान पर उतरने से इनकार कर दिया।

इस संबंध में न्यूजीलैंड क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी डेविड वाइट ने एक बयान भी जारी किया है। उन्होंने कहा कि हमे जिस तरह की सलाह मिल रही है उसे ध्यान में रखते हुए इस दौरे को जारी रखना मुमकिन नहीं है। मैं ये जानता हूं कि यह चीज पीसीबी के बड़ा झटका होगी, वह एक शानदार मेजबान रहा है, हालांकि हमारे खिलाड़ियों की सुरक्षा सबसे ऊपर है। हमारे ख्याल से यही एक जिम्मेदारी भरा विकल्प है।

इस मामले में न्यूजीलैंड क्रिकेट खिलाड़ी संघ के मुख्य कार्यकारी हीथ मिल्स ने भी वाइट के निर्णय का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि ‘खिलाड़ी सेफ हैं और हर कोई अपने सर्वश्रेष्ठ हितों में काम कर रहा है।’ बताते चलें कि इस दौरान न्यूजीलैंड क्रिकेट ने न तो सुरक्षा खतरों के बारे में विस्तार से बताया और न ही टीम की वापसी की व्यवस्था पर कोई कमेंट किया।

उधर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि न्यूजीलैंड का सीरीज स्थगित करने का फैसला एकतरफा है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और पाकिस्तान सरकार द्वारा सभी मेहमान टीमों की सेफ़्टी के बेस्ट इंतजाम किए जाते हैं। हमारी तरफ से न्यूजीलैंड क्रिकेट को भी इसका आश्वासन दिया गया था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने पर्सनली न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री से बात कर उन्हें यकीन दिलाया कि हमारे पास विश्व की बेस्ट खुफिया प्रणाली है। मेहमान टीम की सुरक्षा को किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं है।

गौरतलब है कि इसके पहले 2002 में कराची में टीम होटल के बाहर हुए बम विस्फोट के बाद भी न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया था। 2003 में ब्लैक कैप्स द्वारा पांच वनडे मैच खेला गया था। ये पाकिस्तान का अंतिम दौरा भी था। बताते चलें कि 15 सितंबर से प्रैक्टिस स्टार्ट करने से पूर्व टीम को 3 दिन तक आइसोलेशन में रहना था। इसके बाद दोनों टीमों द्वारा 17, 19, 21 सितंबर को रावलपिंडी में मैच खेला जाना था।

वैसे इस बात में कोई शक नहीं कि न्यूजीलैंड का दौरा रद्द करना पाकिस्तान के लिए बेहद शर्मनाक बात है।

Back to top button