ब्रेकिंग न्यूज़

नाबालिक लड़की ने इंस्पेक्टर से कहा ‘आपने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी, मैंने आप पर भरोसा किया और आप..

बिकरु कांड : युवती को गैंगस्टर विकास दुबे के साथ शामिल होने के शक में गिरफ्तार किया गया है

बिकरु कांड को 1 साल से ज्यादा हो चुका है लेकिन अभी ऐसे कई लोग हैं जिनको इस कांड का दंश अब तक सता रहा है। ऐसी ही एक नाबालिक युवती गैंगस्टर विकास दुबे वाले मामले में पिछले 1 साल से जेल में है नाबालिक होने के चलते उसे बाल सुधार गृह में रखा गया है। हालांकि इस पर कई सवाल भी उठे हैं कि इतने बड़े मामले में एक नाबालिग युवती मुख्य आरोपी कैसे हो सकती है। अब उसने गिरफ्तार करने वाले इंस्पेक्टर से सवाल पूछा कि सर मेरा क्या कसूर था तो वह कोई जवाब नहीं दे पाए।

मेरा क्या कसूर था सर

दरअसल जब 8 जुलाई 2020 जब भी बिकरु कांड हुआ उससे ठीक 2 दिन पहले ही युवती ने शादीीकरके बिकरु आई थी। जिस युवक से उसने शादी की थी वह गैंगस्टर विकास दुबे का खास आदमी था। इसी कारण शक के चलते चौबेपुर इंस्पेक्टर कृष्ण मोहन राय ने नाबालिक लड़की को गिरफ्तार किया था। उसे गिरफ्तार करते हुए इंस्पेक्टर ने कहा था कि तुम चिंता मत करो तुम्हें केवल पूछताछ के लिए ले जाया जा रहा है लेकिन तब से ही युवती बाल सुधार गृह में है।

अब गिरफ्तारी करने के बाद जब पहली बार इंस्पेक्टर युवती से पूछताछ करने आए तो उसने इंस्पेक्टर से सवाल किया कि “कि सर आप तो मुझसे केवल पूछताछ करने की बात कह रहे थे लेकिन आपने तो मेरी जिंदगी ही बर्बाद कर दी”। यह सवाल सुनते ही कृष्ण कुमार की नजरें झुक गई और वह युवती से कुछ कह नहीं पाए।

एक झलक देख रो पड़े परिजन

सोमवार को ही उसे बाराबंकी संप्रेक्षण गृह से मोती किशोर न्याय बोर्ड लाया गया है जब परिजनों को उसके एक जगह से दूसरी जगह जाने की बात पता चली तो वह भी उससे मिलने पहुंच गए जैसे ही उन्होंने अपनी बेटी को देखा तो अपनी भावनाओं को रोक नहीं पाए और फ़फक कर रो पड़े। फिलहाल उसकी सुनवाई किशोर न्याय बोर्ड में ही चल रही है और इसी सिलसिले में पूछताछ के लिए उसे गिरफ्तार करने वाले इंस्पेक्टर कृष्ण मोहन राय वहां पहुंचे थे ‌‌‌।

इंस्पेक्टर ने भरोसा दिलाया था कुछ नहीं होगा

उसे गिरफ्तार करते वक्त कहा गया था कि तुम्हारा कोई कसूर नहीं है तुमने तो 2 दिन पहले ही शादी की है बस तुमसे थोड़ी बहुत पूछताछ करनी है उसके बाद तुम्हें वापस छोड़ दिया जाएगा। लेकिन हम इस बात को 1 साल से ज्यादा हो चुका है और वह अभी तक जेल में ही है।

क्या है बिकरु कांड

2 जुलाई 2020 की दरमियानी रात कई पुलिस अधिकारी और कान्स्टेबल कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने उसके गांव बिकरु गए थे। पुलिस को देखते ही गैंगस्टर विकास दुबे और उसके साथियों ने उन्हें गांव में घेर लिया और ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी जिसमें डीएसपी और एसओ समेत आठ पुलिस वाले मारे गए थे। इतना बड़ा हमला करने के बाद ही विकास दुबे वहां से फरार हो गया था कुछ दिनों तक उसकी तलाश के बाद उज्जैन में उसे पकड़ा गया था। उत्तर प्रदेश पुलिस उसे जब उज्जैन से वापस ला रही थी तब रास्ते में पुलिस की गाड़ी पलटने के दौरान वह भागने लगा और एनकाउंटर में मारा गया।

Back to top button